Move to Jagran APP

परिवार पहचान पत्र जरूरी, खिलाडि़यों को इसी आधार पर मिलेगी छात्रवृत्ति

हरियाणा में परिवार पहचान पत्र (Family identity card) जरूरी है। खेल विभाग की ओर से इस बार खिलाड़ियों को परिवार पहचान पत्र के आधार पर मिलेगी छात्रवृत्ति। अनुसूचित जाति और सामान्य वर्ग के खिलाड़ियों को मिलेगी एक समान राशि।

By Anurag ShuklaEdited By: Fri, 29 Apr 2022 10:53 AM (IST)
खिलाड़ियों को छात्रवृत्ति देने के लिए आवेदन।

कैथल, जागरण संवाददाता। खेल विभाग की तरफ से साल 2021-22 की खेल उपलब्धियों के आधार पर खिलाड़ियों को छात्रवृत्ति देने के लिए आवेदन लिए जा रहे हैं। खिलाड़ियों को दो मई तक संबंधित जिला खेल विभाग के पास आवेदन जमा करवाना है। इस बार आवेदन के साथ परिवार पहचान पत्र भी अनिवार्य किया हुआ है।

अगर अनुसूचित जाति के खिलाड़ी की वार्षिक आय दो लाख 50 हजार रुपये से अधिक है तो उसे छात्रवृत्ति का लाभ नहीं मिलेगा। इसी तरह सामान्य वर्ग के खिलाड़ी की वार्षिक आय अगर एक लाख 80 हजार रुपये से ज्यादा है तो उसे भी लाभ नहीं मिलेगा। इस बार सामान्य वर्ग के खिलाड़ियों को खेल विभाग ने बड़ी सौगात दी है। अनुसूचित जाति और सामान्य वर्ग के खिलाड़ियों को अब एक समान छात्रवृत्ति की राशि दी जाएगी।

पहले सामान्य वर्ग के खिलाड़ियों को प्रदेश स्तर पर पदक आने पर 1200, 1800 और 2400 रुपये मिलते थे। अब इस राशि को बढ़ा दिया गया है। बता दें कि कैथल में अब तक अनुसूचित जाति के 19 और सामान्य वर्ग के नौ खिलाड़ी आवेदन कर चुके हैं।

अब यह मिलेगी खिलाड़ियों को राशि

खेल का स्तर स्वर्ण पदक रजत पदक कांस्य पदक

अंतरराष्ट्रीय 84000 72000 60000

राष्ट्रीय 60000 48000 36000

राज्य 42000 36000 30000

लड़कियों को मिलेंगे 12 हजार रुपये अतिरिक्त

अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय और राज्य स्तर की स्पर्धाओं में पदक लाने वाली लड़कियों को तय राशि के अतिरिक्त हर महीने एक हजार रुपये मिलेगी। एक साल में 12 हजार रुपये लड़कियों को मिलेंगे। इसके अलावा अनुसूचित जाति के खिलाड़ी अगर अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय और राज्य स्तर की स्पर्धा में भाग लेते हैं तो उन्हें 18000 रुपये की छात्रवृत्ति दी जाएगी।

जिला खेल अधिकारी सुधा भसीन ने बताया कि खिलाड़ियों को छात्रवृत्ति देने के लिए आवेदन लिए जा रहे हैं। खिलाड़ी दो मई तक विभाग के पास अपना आवेदन जमा करवा सकते हैं। इस बार अनुसूचित जाति और सामान्य वर्ग के खिलाड़ियों को एक समान छात्रवृत्ति दी जाएगी।