जागरण संवाददाता, समालखा : पावटी निवासी नरेश शर्मा (41) की सोमवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। लहूलुहान शव सुबह घर से 50 मीटर दूर गली में पड़ा मिला। उसके माथे पर जख्म का निशान था। डीएसपी प्रदीप कुमार और थाना प्रभारी नरेंद्र कुमार ने दलबल के साथ मौके का जायजा लिया। लोगों से वारदात के विषय में पूछताछ की। एफएसएल की टीम ने मौके से सैंपल लिए हैं। पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजनों को सौंप दिया गया है। स्वजनों ने हत्या की आशंका जताई है। नरेश के पास अपना इक्को था। वह स्वयं उसे पानीपत-समालखा के बीच चला कर परिवार का भरण पोषण करता था। रविवार को वह 8:30 बजे के करीब घर आया। घर में पर्स, इक्को की चाबी, मोबाइल रखकर दोबारा 11 बजे के करीब निकल गया। घर में अकेली पत्नी थी। उसकी बेटी तथा बेटा भी विवाहित हैं। बेटा नरेला में परिवार सहित रहता है। सुबह चार बजे के करीब शव गली में देखकर लोगों ने पत्नी को घटना की सूचना दी। फिर पुलिस को मामले की सूचना दी गई।

स्वजनों ने जताई हत्या की आशंका

नरेश के मत्थे और सिर के पीछे जख्म और कान से खून निकलने पर स्वजनों ने हत्या की आशंका जाहिर की है। चचेरे भाई, सुरेश और सुभाष ने बताया कि ठोकर लगने से इस तरह मौत नहीं हो सकती है। थाना प्रभारी नरेंद्र कुमार ने बताया कि नरेश के माथे पर निशान हैं। पत्थर के पास शव मिला है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों का पता चलेगा।

Edited By: Jagran