थर्मल (पानीपत), जागरण संवाददाता। पानीपत थर्मल पावर प्लांट में ड्यूटी पर तैनात एक्सईएन पर ड्राइवर ने लोहे की राड से हमला कर दिया। शिफ्ट के अन्य अधिकारियों ने दौड़कर अधिकारी को बचाया। प्लांट की सुरक्षा में तैनात सीआईएसएफ कंट्रोल रूम को इसकी सूचना दी गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे सीआईएसएफ के जवानों ने हमलावर ड्राइवर को मौके पर ही पकड़ लिया।

कार्यालय में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई है। एक्सईएन ने मामले की लिखित शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपी के खिलाफ मारपीट करने व जान से मारने की की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपित ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बार-बार फोन करने पर अधिकारी का फोन नहीं उठा रहा था ड्राइवर

एक्सईएन राजू बत्रा ने थर्मल चौकी पुलिस को मामले की लिखित शिकायत देते हुए बताया कि वह पानीपत थर्मल पावर स्टेशन में यूनिट 6 में बतौर एक्सईएन कार्यरत है। 29 जून को जब वह इवनिंग शिफ्ट में ड्यूटी पर कार्यरत था, तब उसने ड्राइवर संतोष को कंट्रोल रूम में बुलाया था। क्योंकि संतोष कई घंटो से आफिस द्वारा किए जा रहे फोन का जवाब नहीं दे रहा था।

जब वह कंट्रोल रूम में आया तो फोन न उठाने के बारे में पूछे जाने पर कहने लगा कि वह सो गया था। इसके बाद उसने कहा कि मेरी तनख्वाह बढ़ाओ, नहीं तो नौकरी नहीं करूंगा। इसके बाद वह जोर-जोर से चिलाते हुए वहां पर बैठे अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों से बदतमीजी करने लगा। समझाने पर भी वह गाली गलौज करता रहा।

उक्त ड्राइवर ने कंट्रोल रूम में रखे सामान को नुकसान पहुंचाने की कोशिश भी की। किसी तरह का कोई नुकसान न हो और शिफ्ट में काम कर रहे इंजीनियर डिस्टर्ब न हो, इसलिए एक्सईएन ने खड़े होकर उसे कंट्रोल रूम से चले जाने को कहा। इस पर ड्राइवर ने लोहे की राड उठाकर एक्सइएन पर जानलेवा हमला कर दिया और मारपीट करते हुए जान से मारने की धमकी भी दी।

स्टाफ सदस्यों ने बड़ी मुश्किल से उसे काबू किया, जिसके बाद संतोष ने खुद को उनसे छुड़वाते हुए अपने हाथ में पहने हुए लोहे के कड़े से एक्सइएन राजू बत्रा पर वार किया। एक्सइएन ने उच्च अधिकारियों को मामले से अवगत करवाया।

थर्मल चौकी प्रभारी सब इस्पेक्टर जयबीर सिंह ने बताया कि एक्सइएन राजू बत्रा की शिकायत पर ड्राइवर संतोख सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी गई है।

Edited By: Anurag Shukla