जागरण संवाददाता, समालखा: डीएफएससी सुभाष सिहाग ने अनाज मंडी का दौरा कर तौल कार्य का जायजा लिया। अनाजमंडी प्रधान बलजीत सिंह सहित परचेज एजेंसियों खाद्य एवं आपूर्ति के एएफएसओ जोगेंद्र पूनियां और हैफेड के आजाद सिंह से खरीद और उठान की जानकारी ली। मार्केट कमेटी के प्रभारी सचिव कृष्ण कुंडू, सुपरवाइजर संदीप व गोपाल शर्मा से बात की। शौचालय और पानी के प्याऊ का निरीक्षण किया। एजेंसियों को उठान में तेजी लाने और कमेटी प्रतिनिधियों को शौच और पानी के स्थानों की साफ-सफाई सुचारू रखने के निर्देश दिए।

उन्होंने बताया कि आढ़तियों की हड़ताल के बाद गेहूं की आवक जोर पकड़ने से मंडी जाम होने का खतरा हो गया था। आवक और खरीद के अनुसार लिफ्टिग नहीं हो रही थी। सरकार ने अब मैसेज के अनुसार किसानों को गेहू् लाने कहा है। जिससे आवक और खरीद कम हुई है। उठान में तेजी आने से चार-पांच दिनों में स्थिति सामान्य हो जाएगी। लिफ्टिग की समस्या नहीं रहेगी।

4,93,668 क्विंटल गेहूं की खरीद

मंडी में बुधवार को मैसेज के अनुसार किसानों से 22,130 क्विंटल गेहूं की खरीद की गई। सीजन में अभी तक 4,93,668 क्विंटल गेहूं की खरीद हो चुकी है। आवक पांच लाख को पार कर गई है। उचित सफाई और नमी नहीं होने से कुछ खरीद नहीं हुई है। तीनों एजेंसियों ने 1,43,500 क्विंटल की लिफ्टिग की है। करीब 3.50 लाख क्विंटल गेहूं अभी भी मंडी में पड़े हैं। खरीद में हैफेड पहले, डीएफएससी दूसरे तो वेयर हाऊस तीसरे नंबर पर हैं। उठान में डीएफएससी पहले तो हैफेड दूसरे नंबर पर हैं। वेयर हाऊस ने करीब 21 हजार क्विंटल की खरीद की है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021