जागरण संवाददाता, समालखा : डीसी सुशील सारवान ने जल शक्ति अभियान के तहत समालखा खंड के बिहौली गांव के राजकीय सीसे स्कूल परिसर से पंचायतों में पौधारोपण की शुरुआत की। सीआरपीएफ के जवानों ने गांव के विभिन्न जगहों पर 12 सौ पौधे लगाए। वन विभाग सहित स्कूल मुखिया और पंचायतें पौधों की देखरेख करेंगी। सीआरपीएफ, बहालगढ़ (सोनीपत) के डिप्टी कमांडेंट संजीव कुमार, रथ संस्था के अधिकारी, पूर्व सरपंच जिले सिंह, डीएफओ और स्कूल स्टाफ का इसमें सहयोग रहा।

सारवान ने कहा कि विद्यार्थियों में पौधों के प्रति लगाव पैदा करना जरूरी है। उन्हें उनके नाम, कक्षा और रोल नंबर के साथ एक-एक पौधे की जिम्मेदारी दी जाए। पंचायतों में फलदार पौधे अधिक से अधिक लगाए जाएं। जिले में अभियान के तहत नौ लाख पौधे लगाए जाएंगे। सभी 175 पंचायतों में एक-एक हजार पौधे लगाए जाएंगे। पौधारोपण के लिए गड्ढे की खोदाई मनरेगा मजदूर करेंगे। सीआरपीएफ के जवान पौधे लगाएंगे। वन विभाग पौधा उपलब्ध करवाएगा। पंचायत, खंड कार्यालय, जिला परिषद, रथ संस्था देखरेख में सहयोग रहेगा। साढ़े चार लाख पौधे किसानों के माध्यम से भी लगाए जाएंगे। समालखा खंड की पंचायतों में 32 हजार पौधे लगाए जाएंगे, जिनमें 25 हजार फलदार होंगे।

जिला वन अधिकारी जयकुमार नरवाल ने बताया कि साढ़े तीन लाख पौधे सरकारी स्कूलों व लोगों को निशुल्क भी बांटे जाएंगे। दो लाख पौधे कैनाल, रोड, श्मशान आदि जगह लगाए जाएंगे। पूर्व सरपंच जिले सिंह ने उपायुक्त सहित सभी अधिकारियों को उपहार में पौधे दिए। एसडीएम विजेंद्र हुड्डा ने कहा कि परिसर में फलदार पौधे होंगे तो बच्चों को बाहर से फल खरीद कर खाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस अवसर पर सीईओ जिला परिषद विवेक चौधरी, बीडीपीओ रितू लाठर, रेंजर बिरेंद्र सिंह, प्राचार्य विरेंद्र नरवाल, एबीपीओ दिनेश कुमार, दीपक बिहोली, रितेश, महीपाल मौजूद रहे।