यमुनानगर, [अवनीश कुमार]। कोरोना महामारी के बीच इस बार डेंगू घातक रहा। डेंगू के केस लगातार बढ़ रहे हैं। मरीजों में कोरोना की बजाय डेंगू को लेकर दहशत रही। सरकारी आंकड़ों में अभी 241 मरीज हैं, लेकिन निजी अस्पतालों में अभी भी बेड मरीजों से फुल हैं। अब मौसम में बदलाव आ चुका है। इसके बावजूद डेंगू के मरीज मिल रहे हैं। सोमवार को तीन नए मरीज मिले हैं।

यह स्थिति मलेरिया व डेंगू के केसों को 

वर्ष - मलेरिया- डेंगू

2016 -508 - 65

2017 -266 - 70

2018 -97 - 42

2019 - 21 - 51

2020 - 03 - 42

2021 - 04 - 241

महीने वार मिले डेंगू के मरीज 

माह - सैंपल - मरीज

जुलाई - 5 - 0

अगस्त - 30 -0

सितंबर - 363 -30

अक्टूबर - 2200 -142

नवंबर - 1730 - 129

यह स्थिति रही डेंगू की -

क्षेत्र - डेंगू

ग्रामीण - 107

शहरी - 134

पुरुष - 142

महिला - 99

शून्य से 5 वर्ष - सात

6 से 15 वर्ष - 31

16 से 45 वर्ष - 145

45 से ऊपर - 58

यह हैं लक्षण व बचाव 

डेंगू फैलाने वाला मच्छर दिन में काटता है। इसमें पहले रोगी को बुखार आता है, फिर प्लेटलेट कम होने लगती है। जिससे मरीज की मौत तक हो सकती है। इससे बचाव के लिए बच्चों को व स्वयं भी पूरी बाजू वाली शर्ट पहने, घरों में या बाहर गमलों के भीतर बारिश का पानी एकत्र न होने दें। हफ्ते में एक बार कूलर व फ्रिज के पीछे जरूर सफाई करें। घरों में उन स्थानों की भी सफाई करें। जहां पर पानी जमा होने की संभावना रहती

पांच साल का टूटा रिकार्ड

-5 लाख 20 हजार 706 घरों का हुआ सर्वे

-6979 घरों में मिला डेंगू का लारवा

-504 तालाबों में छोड़ी गई गंबूजिया मछली

-26 शहरी क्षेत्र के तालाबों में छोड़ी गई मछलियां

-478 ग्रामीण क्षेत्र के तालाबों में छोड़ी गई मछलियां

-4328 सैंपल लिए जा चुके हैं अभी तक

-142 मरीज सबसे अधिक अक्टूबर माह में मिले

Edited By: Anurag Shukla