पानीपत, जागरण संवाददाता। Dengue Alert: पानीपत में डेंगू बुखार का कहर थम नहीं रहा। सोमवार को भी स्वास्थ्य विभाग ने 14 नए मरीजों की पुष्टि की है। अब तक 195 मरीज सामने आ चुके हैं। उधर, एनएस-वन टेस्ट किट (Test Kit) शाम तक खत्म हो गई। मेडिकल सर्विस कारपोरेशन लिमिटेड (एचएमसीएल) को डिमांड भेजी हुई है, मंगलवार तक मिलने की उम्मीद है।

डिप्टी सिविल सर्जन (मलेरिया) डा. सुनील संडूजा ने बताया कि 14 नए मरीजों में से कुछ दूसरे जिलों के हैं और पानीपत के अस्पतालों में भर्ती हैं। संबंधित जिलों को सूचना दी गई है। जिला के केसों में लार्वा विरोधी गतिविधियां शुरू करा दी हैं। उन्होंने बताया कि डेंगू की पुष्टि के लिए हम सिविल अस्पताल की लैब में ही एंटीजन ब्लड टेस्ट (एनएस-वन) कराते हैं। बहुत कम केसों में इम्युनोग्लोबुलिन-एम (आइजीएम) टेस्ट कराते हैं। एनएस-वन टेस्ट किट पूरी लग चुकी हैं, मंगलवार को स्टेट से मिल जाएंगी। डा. संडूजा ने बताया कि डेंगू बुखार से घबराने की नहीं, मच्छरों से बचाव की जरूरत है। बुखार होने पर अनुभवी चिकित्सक से तुरंत परामर्श लें

घटते-बढ़ते रहे डेंगू केस

2016- 12

2017-469

2018-133

2019- 04

2020-272

2021- 175 ( 15 नवंबर तक)

एनएस-वन टेस्ट

डेंगू बुखार के लक्षण दिखने पर मरीज को पांच दिनों भीतर एनएस-वन टेस्ट कराना चाहिए। डेंगू के शुरुआती दिनों में यह टेस्ट बेहतर परिणाम देता है। डेंगू के लक्षण जैसे-जैसे बढ़ते जाते हैं, इस जांच की प्रामाणिकता कम होने लगती है।

आइजीएम टेस्ट

डेंगू के लक्षण दिखने पर तीन से पांच दिन के भीतर यह जांच जरूरी है। इसके परिणाम की सटीकता, जांच समय के ऊपर निर्भर है।

रैपिड किट टेस्ट नहीं मान्य

डा. संडूजा ने बताया कि रैपिड डायग्नोस्टिक किट (कार्ड टेस्ट) मान्य नहीं है। इस किट टेस्ट से डेंगू पाजिटिव आना, डेंगू की पुष्टि नहीं है। ऐसे मरीज को आशंकित कह सकते हैं।

कोरोना का नया केस नहीं

जिला में कोरोना का नया केस नहीं मिला, न कोई रिकवर हुआ। तीन केस एक्टिव हैं। अब तक मिले 31 हजार 114 पाजिटिव केसों में से 30 हजार 469 रिकवर हो चुके हैं। अभी तक 642 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है।

6490 को लगी कोरोना रोधी डोज

डा. मनीष पासी ने बताया कि सोमवार को 6490 लाभार्थियों ने कोरोना रोधी डोज लगवाई है। 18 से 44 साल आयु वर्ग में 1921 को पहला, 2967 को दूसरा टीका लगा। 45 साल या इससे अधिक आयु वर्ग में 541 को पहला और 1061 ने दूसरा टीका लगवाया।

Edited By: Rajesh Kumar