जागरण संवाददाता, यमुनानगर। खुद को आर्मी आफिसर बता कर साइबर ठगों ने महिला डेंटिस्ट के खाते से 20 हजार रुपये निकाल लिए। आरोपित ने महिला के खाते में फीस के 20 हजार रुपये जमा कराने को कहा था। डेंटिस्ट के खाते में रुपये तो जमा नहीं हुए उल्टा कट जरूर गए। खाते से रुपये कटने का मैसेज आया तो वह हैरान रह गई। महिला की शिकायत पर थाना शहर यमुनानगर पुलिस ने ठगों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस को मिली शिकायत के अनुसार

माडल टाउन निवासी मल्लिका मेहता सब्बरवाल ने थाना शहर यमुनानगर पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह डेंटिस्ट है। भगत सिंह पार्क के पास उसका सब्बरवाल डेंटिस्ट के नाम से क्लिनिक है। उसके मोबाइल पर एक व्यक्ति का फोन आया था। जिसने अपना नाम पंकज बताया था। उसने कहा था कि वह आर्मी आफिसर है। इन दिनों वह जम्मू कश्मीर में तैनात है। उसके पिता जी दांतों में कई दिन से कुछ परेशानी है। वह उनका उपचार करना चाहता है।

वह अपने पिता को उनके क्लिनक पर भेज देगा। वह एक बार उनका निरीक्षण कर लें। ठग ने पूछा कि दांतों का स्थायी रूप से समाधान करने पर कितना खच आएगा। डेंटिस्ट ने पूरे उपचार पर 20 हजार रुपये खर्च आने की बात कही। अगले दिन उसके पास दोबारा ठग का फोन आया। जिसने कहा कि वह अपने पिता को उसके क्लिनिक पर भेज रहा है। वह उसके खाते में 20 हजार रुपये जमा कर रहा है। थोड़ी देर बार दोबारा आरोपित ने उसे फोन कर कहा कि उसने 20 हजार रुपये उसके खाते में जमा करवा दिए हैं।

वह एक बार अपनी ट्रांजेक्शन हिस्ट्री की जांच कर ले। उसकी बातों में आकर उसने जैसे ही ट्रांंजेक्शन हिस्ट्री में मैसेज को चैक किया तो उसी वक्त उसके खाते से 20 हजार रुपये कट गए। यह देखते ही वह हैरान रह गई। उसने आरोपित के मोबाइल नंबर पर फोन किया तो वह बंद मिला। यह बात उसने अपने परिजनों को बताई। जिन्होंने थाने में शिकायत दी।

जांच अधिकारी के अनुसार

मामले की जांच कर रहे एएसआइ सतीश कुमार का कहना है कि महिला की शिकायत के अाधार पर ठगों के खिलाफ आनलाइन ठगी का केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच शुरू कर दी है।

Edited By: Naveen Dalal