जेएनएन, रोहतक। पंडित भगवत दयाल शर्मा पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ साइंस (PGIMS) में पानीपत की Coronavirus COVID-19 Positive महिला का दूसरा टेस्ट Negative पाया है। कोरोना वायरस ट्रीटमेंट सेंटर के नोडल अधिकारी डॉ. ध्रुव चौधरी ने महिला को ठीक करने का दावा किया है। पीजीआइ चिकित्सकों की यह बड़ी कामयाबी मानी जा रही है।

PGIMS निदेशक डॉ. रोहतास यादव ने बताया कि जिस तरह से कुलपति डॉ. ओपी कालरा के मार्गदर्शन में नोडल अधिकारी डॉ. ध्रुव चौधरी व उनकी टीम दिन-रात पूरी मेहनत के साथ कार्य कर रहे हैं, उसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आना शुरू हो गए हैं। पानीपत की महिला कोरोना वायरस से संक्रमित थी, उसे पीजीआइ में भर्ती किया गया, बेहतर ढंग से इलाज हुआ। शनिवार को उसकी कोरोना वायरस टेस्ट की रिपोर्ट नेेगेटिव आई है। डॉ. मंजूनाथ ने बताया कि अभी PGIMS में भर्ती महिला मरीज की रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है, फिलहाल उसको चिकित्सकों की निगरानी में रखा जाएगा और दोबारा सैंपल जांच करवाई जाएगी।

कुलपति डॉ. ओपी कालरा ने कहा कि हरियाणा सरकार व संस्थान मरीजों को ठीक करने के लिए पूर्ण रूप से प्रयासरत है और इसके लिए दिन रात कार्य किया जा रहा है। डॉ. कालरा ने अनुरोध किया कि कोरोना वायरस से डरकर भय का माहौल बनाने की जरूरत नहीं है, बस हमें सावधानी बरतनी है और 21 दिनों तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान का पालन करते हुए घरों में रहने की जरूरत है।

कुलसचिव डॉ. एचके अग्रवाल ने कहा कि कोरोना वायरस के लक्षणों को बिल्कुल भी छुपाएंं नहीं और समाज हित में स्वास्थ्य विभाग को जानकारी दें। PGIMS में कोरोना वायरस से लड़नेे के लिए सभी प्रबंध उपलब्ध हैं। जनसंपर्क विभाग के इंचार्ज डॉ. गजेंद्र सिंह ने कहा कि हमें पुलिस प्रशासन का सहयोग करते हुए घरों में रहना चाहिए और सिर्फ बहुत ज्यादा जरूरत पर घरों से निकलना चाहिए। तभी हम खुद को व अपने परिजनों को सुरक्षित रख पाएंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस