जागरण संवाददाता, पानीपत: पानीपत बार चैंबर फेज-2 में बने 130 चैंबरों में से 128 का अलॉटमेंट होना है। जिन वकीलों ने पूरी रकम जमा करा दी है, उन्हें कब्जा भी दिया जाने लगा है। करीब 10 वकीलों ने अपने चैंबरों में बैठकर प्रैक्टि्स भी शुरू कर दी है। अभी करीब 70 वकीलों पर लगभग 25 लाख रुपये बकाया हैं। इसके चलते लिफ्ट और बिजली कनेक्शन का काम रुका हुआ है।

गौरतलब है कि ग्राउंड प्लस चार मंजिला इमारत में कुल 130 चैंबर हैं। 24 अगस्त, 2017 को 128 चैंबरों का ड्रा निकाला गया था। हर चैंबर में 4 वकीलों की साझेदारी है। प्रत्येक मंजिल पर फिलहाल 26 चैंबर हैं। ग्राउंड फ्लोर पर एक चैंबर की कीमत 5.20 लाख, प्रथम तल पर 4.80 लाख, द्वितीय पर 4.40 लाख, तृतीय पर 4 लाख और टॉप फ्लोर की कीमत 3.60 लाख रुपये है। एन्हांसमेंट कार्य सहित लगभग सवा छह करोड़ रुपये कमेटी के पास आने हैं। ड्रा के समय बहुत से वकीलों ने कमेटी के नाम चेक दिए थे। इनमें से 115 वकीलों के चेक बाउंस हो गए थे। जिससे लगभग 60 लाख से ज्यादा की रकम फंस गई थी। इनमें से काफी वकीलों ने रकम जमा करा दी है। पूरा भुगतान करने वाले वकीलों को पजेशन लेटर जारी किए जा रहे हैं। जल्द जारी होगा चैंबर में लिफ्ट का टेंडर

द पानीपत लॉयर कंस्ट्रक्शन समिति फेस टू के चेयरमैन एडवोकेट अजय बत्ता ने बताया कि निर्माण एजेंसी ग्लोबल इंफ्रा कॉन है। उसके भुगतान पर फिलहाल रोक लगाई गई है। उसी रकम से एक लिफ्ट लगवाई जाएगी। तीन कंपनियों से कोटेशन मंगा ली है। जल्द ही टेंडर जारी कर दिया जाएगा। संयुक्त मीटर ही लगेगा :

फेज वन के चैंबरों का बिजली निगम ने संयुक्त मीटर लगाया हुआ है। एसोसिएशन ने हर चैंबर में सब मीटर लगाए हैं। वकीलों से बिल राशि की वसूली करना एसोसिएशन के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है। नए चैंबरों में अलग-अलग मीटर लगवाने का निर्णय लिया गया था लेकिन बिजली निगम ने इससे इंकार कर दिया। अब संयुक्त मीटर लगेगा। प्री-रिचार्ज सिस्टम वाले सब मीटर लगवाए जाएंगे। 200 केवीए का ट्रांसफॉर्मर भी लगवाया जाएगा। करीब 11 लाख रुपये का खर्च आना है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप