जागरण संवाददाता, पानीपत : असंध रोड स्थित अग्रसेन कॉलोनी में पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था एक सप्ताह से चरमरा गई है। पाइप लाइन ठीक करने गए तकनीकी कर्मचारियों ने जेसीबी ऑपरेटर से खोदाई करवा कर पाइप लाइन तहस नहस कर दी। कॉलोनी में जल संकट गहरा गया है। 25-30 घर इससे प्रभावित हैं। आस पड़ोस के घरों से पानी लाकर कालोनी के लोग दैनिक कामकाज करने को मजबूर हैं।

अग्रसेन कॉलोनीवासी तेजबीर मलिक, विजय वधवा, सोहन लाल, राजेंद्र सिंह घणघस व रवि कुमार ने बताया कि लगभग दो साल से घरों में सप्लाई होने वाले पेयजल में सीवर का गंदा पानी मिलने से बदबू आ रही है। कॉलोनीवासियों के कई बार शिकायत देने के बाद विभागीय अधिकारियों ने इसे ठीक करने के लिए कर्मचारी लगाए। लेकिन लापरवाही के कारण पेयजल सप्लाई ठीक करने की बजाए सीवर के पाइप ही तोड़ दिए। कॉलोनी के लगभग 30 घरों की पेयजल सप्लाई और निकासी व्यवस्था ठप हो गई है। एक सप्ताह से जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कोई सुनवाई नहीं कर रहे। प्रशासन के ऑनलाइन पोर्टल पर कालोनी के लोगों ने शिकायत दी। उस शिकायत का असर भी नहीं दिख रहा है। कॉलोनीवासी खुले दरबार में 30 अगस्त को मंत्री अनिल विज से शिकायत करेंगे। कामकाज किया शुरू, फिर अधर में छोड़कर भागे

फोटो नं - 6ए

एसडी कॉलेज के प्रोफेसर राकेश सिगला ने बताया कि पाइप लाइन टूटने के बाद कर्मचारियों ने कॉलोनी में काम तो शुरू किया। लेकिन एक-दो दिन कुछ पाइप दबाने के बाद काम अधर में छोड़कर चले गए। विभागीय अधिकारियों को इस बारे सूचना दी तो उन्होंने भी कोई सुनवाई नहीं की। अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा लोग भुगत रहे है। वर्जन :

पुरानी पाइप टूट चुकी थी। इसलिए घरों के पेयजल में गंदा पानी जा रहा था। नई पाइप लाइन बिछाने के दौरान सीवर लाइन थोड़ी टूट गई, जो सामान्य है। फिलहाल कॉलोनी में पेयजल किल्लत की कोई लिखित शिकायत नहीं मिली। फिर भी बुधवार को कामकाज शुरू कराकर पेयजल सप्लाई शुरू करा दी जाएगी।

राजेश कौशिक, एक्सईएन जनस्वास्थ्य विभाग।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप