समालखा (विज्ञप्ति) : आजादी के 75 साल पूरे होने पर आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत हरियाणा कला परिषद कुरुक्षेत्र और पाइट कालेज समालखा के सौजन्य से रास कला मंच सफीदों रंगमंडल के कलाकारों ने 1962 के भारत और चीन के युद्ध पर रेजांगला के नाम से नाटक का मंचन किया। निर्देशन वरिष्ठ रंगकर्मी रवि मोहन ने किया।

यह नाटक रेजांगला की युद्ध भूमि पर हुए युद्ध के नायकों पर था। दक्षिण हरियाणा के रणबांकुरों ने चीन के 1310 जवानों को मार गिराया था। नाटक की प्रस्तुति पाइट कालेज के एपीजे अब्दुल कलाम सभागार में की गई। रहीश ने शैतान सिंह भाटी, धीरज शर्मा ने दयाल सिंह, मुकेश कुन्याल ने सतपाल सिंह, जीतू तोमर ने रामचंद्र यादव, अजित कुमार ने हुकुम सिंह, आशीष सैनी ने निहाल सिंह, आकाश चौधरी ने संग्राम सिंह और रोहित सिंह राठी ने धन्जित बोरा के किरदारों में जान डाल दी।

पाइट कालेज के संस्थापक चेयरमैन हरिओम तायल और डीन डा. बीबी शर्मा मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे। हरिओम तायल ने कहा कि इस तरह के नाटक आज की पीढ़ी को जरूर देखने चाहिए। मंचन पूरे हरियाणा में होना चाहिए।

Edited By: Jagran