पानीपत/कैथल, जेएनएन। खुराना रोड स्थित डीएवी कालोनी में किराये के मकान में रहने वाली आशा उसके प्रताप गेट निवासी प्रेमी शुभम ने अपने दो दोस्तों और पटियाला निवासी प्रेमिका के साथ मिलकर की थी। हत्या करने के बाद आरोपित अलमारी से 16 हजार रुपये, मोबाइल फोन भी चोरी कर ले गए। सभी आरोपित जयपुर भागने की फिराक में थे, लेकिन पुलिस ने चारों को गिरफ्तार कर लिया। अदालत ने महिला व एक आरोपित को जेल भेज दिया है, जबकि मुख्य आरोपित शुभम व एक अन्य को दो दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया। 

डीएसपी कुलभूषण ने बताया कि 27 जुलाई की शाम डीएवी कालोनी खुराना रोड कैथल निवासी अशोक मलिक की शिकायत पर केस दर्ज किया था। आरोप लगाया था कि गली नंबर-8 स्थित मकान में सितंबर 2018 से किराये पर रह रही तलाकशुदा महिला आशा घर में मृत पड़ी थी। उसके चेहरे व गर्दन पर चोट के निशान थे। पुलिस ने जांच के बाद पाडला रोड बाईपास से आरोपित शुभम उर्फ शीबू को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपित से पूछताछ के उपरांत पटियाला निवासी सिमरन कौर को रेलवे स्टेशन कैथल से, शक्तिनगर निवासी आरोपित ओमप्रकाश उर्फ पासी व तरसेम उर्फ संजू को डोगर गेट से पकड़ लिया। 

इस तरह दिया वारदात को अंजाम 
पूछताछ में आरोपित शुभम ने कबूला कि उसके मृतक महिला (आशा रानी) के साथ अवैध संबध थे। कुछ दिन पहले पटियाला निवासी विवाहिता सिमरन के साथ जान-पहचान हो गई, जिसका आशा रानी ने विरोध किया। इस पर शुभम ने अपने दोस्त शक्ति नगर निवासी ओमप्रकाश, डोगरा गेट के तरसेम और सिमरन के साथ मिलकर 26 जुलाई की रात दो बजे आशा की हत्या कर दी। वारदात से पहले इस वारदात को अंजाम देने के लिए आरोपितों ने हुडा सेक्टर 19 के देवीलाल पार्क में योजना बनाई। जहां से सभी एक ही स्कूटी पर सवार होकर महिला के घर पहुंचे और इस वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस