पानीपत टीम, जागरण संवाददाता। हरियाणा के कई जिलों में भाजपा कार्यकर्ता सुबह 11 बजे कांग्रेस कार्यालय पहुंच गए। पानीपत, अंबाला, जींद और कुरुक्षेत्र में भाजपा कार्यकर्ता पहुंच गए। इस बीच कांग्रेस कार्यकर्ता भी आ गए। दोनों कार्यकर्ताओं के आमने सामने होने पर भारी संख्‍या में पुलिस बल तैनात हो गया। दोनों तरफ से नारेबाजी लगातार जारी है और तनाव बढ़ता जा रहा है। मामला पंजाब सीएम कैप्‍टर अमरिंदर सिंह के हरियाणा में किसान आंदोलन करने के बयान पर गर्माया है।

पानीपत के लाल बत्‍ती चौक पर कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ता एकजुट हो गए हैं। दोनों ओर से नारेबाजी की जा रही है। इस बीच पुलिस फोर्स भी तैनात है। वहीं दोनों पक्षों से रोड खाली करने को कहा जा रहा है। दिल्‍ली चंडीगढ़ हाईवे होने की वजह से जाम की स्थिति बन रही है। 

जींद में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का पुतला फूंकने के लिए शनिवार सुबह 11 बजे भाजपा के कार्यकर्ता कांग्रेस भवन के सामने पहुंचे। भाजपाइयों के आने की सूचना मिलते ही कांग्रेसी भी पहुंचे। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस तैनात है। सड़क के एक तरफ कांग्रेसी बैठे हैं तो दूसरी तरफ भाजपाई। बीच में पुलिस खड़ी है। दोनों तरफ से नारेबाजी की जा रही है। पुलिस की संख्‍या लगातार बढ़ा जा रही है। पुलिस दोनों पक्षों को शांत करा रही है।

जींद में विरोध प्रदर्शन करते कार्यकर्ता।

वहीं कुरुक्षेत्र में भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता आमने-सामने प्रदर्शन कर रहे हैं। कांग्रेस ने भाजपा के विरोध में कांग्रेस भवन पर तीन घंटे का धरना रखा है। प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने इसका फैसला लिया है। पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा की अगुवाई में सेक्टर-13 में धरना प्रदर्शन सुबह 10 बजे शुरू किया। भाजपा जिलाध्यक्ष राजकुमार सैनी की अगुवाई में कांग्रेस भवन के सामने धरना प्रदर्शन किया। भाजपा नेता भी 10 बजे कांग्रेस जिला मुख्यालय पहुंचे। प्रशासन और पुलिस भी अलर्ट रहा।

जींद में पंजाब सीएम के बयान का विरोध जताते भाजपा कार्यकर्ता।  

अंबाला के प्रभारी यमुनानगर विधायक घनश्यामदास अरोड़ा के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यालय का घेराव

अंबाला छावनी के निकलसन रोड स्थित कांग्रेस कार्यालय पर शनिवार को यमुनानगर के विधायक और अंबाला के प्रभारी घनश्याम दास अरोड़ा और जिलाध्यक्ष राजेश सापरा के नेतृत्व में भाजपाई एकजुट हो रही हैं। पंजाब में आंदोलन कर रहे किसानों को हरियाणा में जाकर आंदोलन करने के पंजाब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान पर जमकर भड़ास निकाली। कांग्रेस नेताओं से सवाल किया कि हरियाणा के विकास का कोरा दावा करने वाले क्या पंजाब मुख्यमंत्री के बयान का समर्थन करते हैं। अगर वे समर्थन करते हैं तो हरियाणा में अगर किसान आंदोलन करने आते हैं तो विकास कैसे संभव है। विधायक घनश्याम दास अरोड़ा ने पंजाब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान को गैर जिम्मेदाराना बताते हुए इस्तीफे की मांग की। जिलाध्यक्ष राजेश ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री के बयान से साफ जाहिर होता है कि वह हरियाणा के विकास को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं। मेयर मदन चौहान ने कहा कि कांग्रेसी नेताओं की मानसिकता में खोट नजर आ रही है। इस दौरान यमुनानगर से राम नेवास गर्ग, रानी कालरा सहित सैकड़ों की संख्या में भाजपाईयों ने कांग्रेस कार्यालय पर धरना दिया।

  भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के आमने सामने होने पर पुलिस समझाती।

Edited By: Anurag Shukla