पानीपत, जेएनएन : पानीपत नगर निगम ने शहर में बड़ी कार्रवाई की है। प्रापर्टी टैक्स की बकाया राशि वसूलने के लिए जट्टू राम चौक पर स्थित बिरादरी बरात घर सील कर दिया गया। इस बरात घर पर साढ़े दस लाख रुपये बकाया थे। पार्षद अंजली शर्मा मौके पर पहुंची। उन्होंने कागज देखे। लेकिन सीलिंग कार्रवाई नहीं रोकी गई। इसके बाद संत नगर में सर्राफ माल की प्रापर्टी सील की गई। जीटी रोड पर स्थित इस प्रापर्टी पर छह करोड़ बकाया थे। यह माल निर्माणाधीन है। 

इससे पहले नगर निगम की टीम ने किले पर स्थित श्री हाफिजाबादी राम नाटक क्लब की जगह को सील किया था। उस जगह पर 17 लाख 15 हजार रुपये टैक्स बकाया था। 

संस्थानों पर नजर

नगर निगम की टीम अब बड़े सामाजिक संस्थानों पर कार्रवाई कर रही है। इसका उदाहरण है बिरादरी बरात घर। पहले निजी संस्थानों पर कार्रवाई की गई थी। मित्तल मेगा माल की 21 दुकानें सील कर दी थीं। जीटी रोड पर प्रिंस हैंडलूम पर सील लगाई गई थी। अब सामाजिक संस्थानों का नंबर आया है। 

4600 को नोटिस दिया गया है 

जिन लोगों या संस्थानों पर एक लाख रुपये बकाया हैं, उन्हें नोटिस थमाए गए हैं। ऐसे लोगों की संख्या 4600 है। रिकवरी का काम सीपीओ राकेश कादियान ने संभाला हुआ है। उनके नेतृत्व में टीम पहुंचती है। टैक्स जमा कराने के लिए कहा जाता है। अगर टैक्स जमा नहीं कराया जाता तो सील कर दिया जाता है। 

कमिश्नर हो चुके हैं सस्पेंड

प्रापर्टी टैक्स की रिकवरी न होने पर गृहमंत्री अनिल विज ने तत्कालीन निगम कमिश्नर सुशील कुमार को सस्पेंड किया था। इसके बाद से निगम की टीम कार्रवाई के मोड में आई। अब शहरभर में नोटिस देकर सीलिंग की जा रही है।

Edited By: Ravi Dhawan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट