पानीपत, जागरण संवाददाता। साइबर ठग ने बैंक कर्मचारी बताकर नांगल खेड़ी में व्यक्ति के क्रेडिट कार्ड की वेल्यू बढ़ाने का झांसा देकर खाते से 1 लाख 51 हजार 999 रुपये निकाल लिए। ठग ने ओटीपी पूछकर ठगी की।

नांगल खेड़ी गांव के राजेश कुमार शर्मा ने पुलिस को शिकायत दी कि उनके मोबाइल फोन पर ठग ने बैंक कर्मचारी बताकर क्रेडिट कार्ड की वेल्यू बढ़ाने की बात कही। ठग ने बातों में उलझाकर उससे ओटीपी पूछा और खाते से 1 लाख 51 हजार 999 रुपये निकाल लिए। इसके बाद उसने ठग को काल कर रुपये वापस करने को कहा, लेकिन ठग ने फोन बंद कर लिया। सेक्टर-29 थाना पुलिस ने मामला दर्ज करके ठग की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस ठग की काल डिटेल खंगाल रही है।

ओटीपी पूछकर खाते से 25 हजार रुपये निकाले

देशराज कालोनी के एमडी रिजवान ने पुलिस को शिकायत दी कि उसका एसबीआइ में खाता है। उसने बैंक में क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन किया था। उसका क्रेडिट कार्ड अन्य किसी व्यक्ति के पास चला गया। ठग ने क्रेडिट कार्ड दिलाने का झांसा देकर ओटीपी पूछा और खाते से 25295 रुपये निकाल लिए। इसके बाद से ठग का फोन बंद है। किला थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मोबाइल नंबर के जरिये ठग तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

ओटीपी पूछकर कर रहे हैं ठगी

पुलिस आनलाइन ठगी से बचने के लिए बार-बार एडवाइजरी करके लोगों को आगाह कर रही है। साइबर ठग लोगों से ओटीपी पूछकर ठगी की वारदात कर रहे हैं। विकास नगर में किराये पर रहे वाले संजीव कुमार झा ने पुलिस को शिकायत दी कि उसने 2500 रुपये दोस्त को भेजे थे। दोस्त के खाते में रुपये नहीं गए तो उन्होंने एसबीआइ कस्टमर केयर में काल की। काल कट गई और थोड़ी देर बाद दूसरे नंबर से काल आया। व्यक्ति ने बताया कि वह कस्टमर केयर से बोल रहा है। ठगी ने उससे पिन नंबर और ओपीटी पूछकर खाते से 53 हजार रुपये निकाल लिए। उधर, गढ़ी सिकंदरपुर गांव की सोनिया शर्मा से ठग ने ऐनीडेस्क एप डाउनलोड कराया और फोन हैक करके खाते से 75 हजार रुपये निकाल लिए।

Edited By: Anurag Shukla