कैथल, जेएनएन। खंड विकास व पंचायत अधिकारी (बीडीपीओ) रोजी ने लॉकडाउन के दौरान अधिकारी के साथ- साथ समाजसेवी बनकर कार्य किया था। लॉकडाउन के दौरान अपनी ड्यूटी को निष्ठा के साथ निभाया। इसके साथ ही  जरूरतमंदों तक खाने का प्रबंध किया। लॉकडाउन में डेढ़ महीने तक अपने घर पंचकूला नहीं जा पाई। ड्यूटी के दौरान माता-पिता और भाई का भी फोन आता है। लेकिन, रात को समय मिलने के बाद ही परिवार वालों से बातचीत हो पाती है। अब भी कोरोना के बचाव को लेकर सभी हिदायतों का पालन कर रही हैं। 

जरूरतमंदों तक पहुंचाया खाना

बीडीपीओ रोजी का कहना है कि हर समय इस बात की चिंता रहती है कि कोई जरूरमतंद रात को भूखा न सोए। खुद शहर की बस्तियों और गांवों में जगह- जगह जाकर जरूरतमंद लोगों को खाना वितरण का काम किया। सुबह 9 बजे से लेकर रात को सात से आठ बजे तक फील्ड में और इसके बाद कर्मचारियों से मोबाइल फोन पर संपर्क बनाते हुए कोरोना संकट के बीच अपनी ड्यूटी निभाई। गुहला, कलायत और सीवन खंड की विकास पंचायत अधिकारी का कार्यभार संभाल रखा था। उन्होंने बताया कि पुलिस विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों का पूरा सहयोग मिला। आइजी हरदीप सिंह दून, डीसी सुजान सिंह, एसपी शशांक कुमार सावन उनका समय-समय पर मार्गदर्शन करते रहे थे। 

कोरोना से बचाव जरूरी

बीडीपीओ का कहना है कि फिर कोरोना के केसों में बढ़ोतरी हो रही है। इसलिए इस समय सर्तक रहने की आवश्यकता है। मास्क, सैनिटाइजर व दो गज की दूरी का पालन अवश्य करें। तभी आप सुरक्षित रह सकते है। बुखार, खासी व जुकाम होने पर डाक्टर की सलाह लें। 

समाज सेवा भी जरूरी 

बीडीपीओ रोजी का कहना है कि अधिकारी के साथ- साथ समाज सेवा जरूरी है। ऐसे समय में कामकाज का बोझ नहीं समझना चाहिए। प्रशासन का सहयोग करें। कोविड के नियमों का पालन करें।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021