जागरण संवाददाता, पानीपत : पांच साल से अलग-अलग रह रहे पति-पत्नी के बीच सुलह कराने का प्रयास किया जाएगा। माईजी कालोनी में रहने वाली महिला अपने पति से अलग रह रही है। महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी रजनी गुप्ता ने महिला व उसके पति को 9 जनवरी को बुलाया है। ताकि महिला को घरेलू ¨हसा अधिनियम के तहत ससुराल में रहने का हक मिल सके।

माईजी कालोनी में रहने वाली एक महिला और उसके पति के बीच घरेलू विवाद हो गया था। पांच साल पहले पति ने महिला को घर से निकाल दिया था। उस समय महिला का बड़ा बेटा 3 साल का था। बड़ा बेटा उसके पति के पास है और छोटा बेटा महिला अपने साथ ले गई थी। महिला ने बड़े बेटे की कस्टडी के लिए कोर्ट में केस दायर किया था। कोर्ट ने कस्टडी केस खारिज कर दिया और हर महीने बेटे से मिलने की अनुमति दी थी। महिला ने अपने पति के खिलाफ दहेज का केस किया था। सुनवाई के बाद अदालत ने उसके पति को दहेज के केस में बरी कर दिया था। महिला ससुराल में रहना चाहती है। महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध ने बताया कि महिला उनके पास आई थी। उसके पति ने दूसरा निकाह कर लिया था। महिला ससुराल में रहने का हक चाहती है। उसके पति को इसका पता लगा तो उसके पति ने कोर्ट में तलाक का केस कर दिया। पति-पत्नी के बीच सुलह कराने के लिए 9 जनवरी को बुलाए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस