पानीपत, जागरण संवाददाता। कोरोना (Covid-19) की दूसरी लहर की चपेट में जिले की कितनी जनसंख्या आई, कितने लोगों के शरीर में एंटीबाडी (Anitibodies) बनी इसका पता लगाने के लिए शहर से 800 और ग्रामीण क्षेत्र से 80.7 फीसद लोगों के सैंपल लिए गए थे। जिसकी रिपोर्ट तीसरे चरण में आ चुकी है। इसमें जिला में 81.5 प्रतिशत बनी एंटीबाडी बनी और शहर के 82.6 और ग्रामीण के 80.7 फीसद लोगों में एंटीबाडी बन सकी। इसमें हरियाणा के 76.3 फीसद लोगों में कोरोना (Coronavirus) के खिलाफ एंटीबाडी बनी पाई। जिसमें पानीपत जिला में 83 फीसद पुरुषों और 80.1 फीसद महिलाओं में एंटीबाडी पाई गई।

प्रदेशभर में सितंबर माह में सीरो सर्वे (Sero survey) करवाया गया था। इससे पहले सीरो सर्वे के दो राउंड अगस्त व अक्टूबर 2020 में करवाया जा चुका है। जिसमें पहले राउंड में सीरो सर्वे आठ प्रतिशत व दूसरे राउंड में 14.8 प्रतिशत पाई गई थी। बता दें कि तीसरे सीरो सर्वे के लिए तीन क्लस्टर से 120 सैंपल लिए गए थे। इनमें 72 सैंपल 18 से अधिक आयु वाले व्यक्तियों के व 48 सैंपल 18 से कम आयु वालों के लिए गए थे। यह सैंपल पंचकूला लैब में भेजे गए थे, जिसकी रिपोर्ट सोमवार को जारी की गई।

प्रदेशभर में सीरो सर्वे का यह रहा फीसद

तीसरे राउंड में सीरो पाजिटिविटी 76.3 फीसद पाई गई है। इसमें 75.3 फीसद पुरुष व 77.1 फीसद महिला। बच्चे (6 से 9 वर्ष की आयु में) 69.8 फीसद व (10 -17 वर्षमें) 73.2 फीसद, जिन्होंने वैक्सीन लगवाई इसमें 81.6 फीसद, जिनको नहीं लगी 75.5 फीसद है।

सीरो सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार करेंगे डाटा तैयार

नोडल अधिकारी सीरो सर्वे ललित वर्मा ने बताया कि सर्वे के तीसरे राउंड की रिपोर्ट आ चुकी है जिसमें पानीपत में 81.5 प्रतिशत एंटीबाडी पाई गई हैं। अब इसका डाटा पहले दो राउंड की तरह तैयार किया जाएगा।

प्रथम सर्वे में पानीपत के आंकड़े

अगस्त-2020 में शहर में कुल 352 लोगों के ब्लड सैंपल लिए गए थे। इनमें से 13 पुरुषों, 13 महिलाओं (क्रमश: 10 व 5.85 फीसद) के शरीर में एंटीबाडीज डेवलप हुई थी। ग्रामीण क्षेत्र में कुल 527 (246 पुरुष, 281 महिलाओं) के ब्लड सैंपल लिए गए थे। 22 पुरुषों और 14 महिलाओं (क्रमश: 8.94 व 4.98 फीसद) के शरीर में एंटीबाडीज बनी थी। यानि, 7.4 फीसद जनसंख्या के शरीर में हर्ड इम्युनिटी बनी थी।

द्वितीय सीरो सर्वे में पानीपत के आंकड़े

अक्टूबर-2020 में दूसरा सीरो सर्वे हुआ था। 15 कलस्टर बनाए थे। 726 (शहर में 289, ग्रामीण क्षेत्र में 437) सैंपल लिए गए थे। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने नवंबर में रिपोर्ट जारी की थी। जिला में 23 फीसद लोगों के शरीर में हर्ड इम्यूनिटी बन चुकी थी। शहरी क्षेत्र में 36.67 फीसद, ग्रामीण क्षेत्र में 13.95 फीसद आबादी के शरीर में हर्ड इम्युनिटी बनी थी।

Edited By: Anurag Shukla