पानीपत/अंबाला, जेएनएन। महिला को पति की मौत का बिल्कुल भी गम नहीं हुआ। पति के मरते ही महिला अपने दो बच्चों को छोड़कर प्रेमी के साथ फुर्र हो गई। दो दिन से ससुराल वाले महिला की खोजबीन में लगे थे, लेकिन जब उसके कमरे की तलाशी ली तो महिला का लिखा हुआ पत्र मिला। पत्र देखकर परिवार में हड़कंप मच गया। ससुराल वालों ने पड़ाव थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई।

दिल्ली की रहने वाली हिमांशी के पिता की कई सालों पहले मौत हो गई थी। पिता की मौत के बाद हिमांशी रंगिया मंडी निवासी अपनी बुआ के पास रहने लगी। करीब सात साल पहले इसी मौहल्ले में रहने वाले सुमित से हुई थी। सुमित के दो बच्चे है। एक सात साल की बेटी और एक 5 माह की बेटा है। दो महीने पहले बीमारी के चलते सुमित की मौत हो गई। लेकिन पत्नी की प्रेम-प्रसंग किसी युवक से चल रहा था। जिसकी ससुराल वालों को भनक तक नहीं चली।

पति की मौत होने के बाद महिला अपने बच्चों को दो दिन पहले छोड़कर चली गई। महिला को अपने बच्चे और पति की मौत पर तरस तक नहीं आया। दो दिन से ससुराल वाले महिला की तलाश कर रहे थे। लेकिन महिला का कुछ अता-पता नहीं चल पाया। सोमवार को महिला के घर की तलाशी ली तो ससुराल वालों को पत्र मिला। जो महिला ने लिखा। इस पत्र में उसने लिखा कि वह अपनी मर्जी से जा रही है। मुझे ढूंढने की कोशिश मत करना। पत्र मिलने के बाद ससुराल वालों ने पड़ाव थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई।

पांच माह के बेटे पर भी नहीं आया रहम

महिला को अपने पांच माह के बेटे पर जरा भी रहम नहीं आया। उसको भी वह छोड़कर चली गई। ससुराल वालों ने बताया कि पति की मौत के बाद उसने गलत किया। दोनों बच्चों को छोड़कर चली गई। जबकि परिवार में महिला सभी बहुत मानते थे, लेकिन उसने हमारी बिल्कुल भी लाज नहीं रखी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस