पानीपत/जींद, जेएनएन। जींद के कस्बे नरवाना के गांव दनौदा खुर्द की सिंघड़ पत्ती में एक युवक ने साधु बने भाई की पीट-पीटकर हत्या कर दी। वारदात के बाद अस्पताल ले जाने की बात कहकर शव को जाजनवाला हेड से नहर में फेंक दिया। सदर थाना पुलिस ने मृतक के पिता के बयान पर आरोपित के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

गांव दनौदा खुर्द वासी कृष्ण ने पुलिस को बताया कि उसका एक लड़का जयभगवान कुछ वर्षों पहले साधु बन गया था। वह गांव से अकसर बाहर ही रहता था। 6 नवंबर को जयभगवान अपने घर आया हुआ था। इसी बीच जयभगवान और उसके दूसरे बेटे महीपाल के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। 

पीटने पर बेसुध हो गया भाई

महीपाल ने तैश में आकर अपने भाई जयभगवान को जमकर पीटा, जिससे वह बेसुध हो गया। इसके बाद महीपाल ने परिजनों को कहा कि वह जयभगवान को इलाज के लिए अस्पताल लेकर जा रहा है और उसको कार में डालकर घर से बाहर चला गया। मगर महीपाल जयभगवान को अस्पताल ले जाने की बजाय जाजनवाला नहर के हैड पर लेकर गया, जहां उसने उसे नहर में फेंक दिया। 

परिजनों ने मिलने की जाहिर की इच्छा

महीपाल जब घर वापस आया तो परिजनों ने उससे जयभगवान के बारे में पूछा। उसने बताया कि जयभगवान को अस्पताल में दाखिल करवा दिया है। जब अगले दिन परिजनों ने जयभगवान से मिलने की इच्छा जाहिर की तो महीपाल आना-कानी करने लगा। अनहोनी की आशंका के कारण उन्होंने जयभगवान की तलाश शुरू कर दी। 

माइनर में मिला शव

इस दौरान उनको सूचना मिली कि एक युवक का शव गांव बिठमड़ा के पास माइनर में मिला है और उसे शिनाख्त के लिए उकलाना के नागरिक अस्पताल में रखा हुआ है। वे तुरंत अस्पताल में पहुंचे और शव की शिनाख्त जयभगवान के रूप में की। दनौदा चौकी इंचार्ज कुलदीप ने बताया कि मृतक के पिता कृष्ण के बयान पर आरोपित महीपाल के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। 

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप