जागरण संवाददाता, पानीपत : अहर गांव में हर्ष फायरिग में सहायक फोटोग्राफर सोहन भारद्वाज की हत्या के आरोपित नन्हेड़ा गांव के मोहित और उसके मौसेर भाई नरेश की निशानदेही पर सीआइए-टू ने लाइसेंसी राइफल व क्रेटा गाड़ी बरामद कर ली है। ये हथियार व गाड़ी नरेश रावल के घर नन्हेड़ा से बरामद किए गए। वीडियो में दिख रही लाइसेंसी पिस्टल नरेश की थी। पुलिस ने पिस्टल नरेश की फैक्ट्री से बरामद की। राजनगर के फोटोग्राफर विजय जैन के कब्जे से कैमरा बरामद किया गया है। सीआइए-टू प्रभारी इंस्पेक्टर दीपक कुमार ने बताया कि कैमरा विजय जैन का है। ये कैमरा उसने वीडियो बनाने के लिए सोहन भारद्वाज को दे रखा था। वारदात के समय मोहित और नरेश के पास हथियार थे। अन्य युवकों पर असलहे नहीं थे। आरोपित मोहित और नरेश को मंगलवार शाम को अदालत में पेश किया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। रंजिश में तो नहीं मारी सोहन को गोली

इंस्पेक्टर दीपक कुमार ने बताया कि यह भी जांच की जा रही है कि सोहन की हत्या रंजिश में तो नहीं की गई है। सोहन के स्वजनों और परिचितों से जानकारी ली जाएगी। फोटोग्राफर विजय जैन से भी पूछताछ की जाएगी। यह है मामला

18 नवंबर की रात को अहर गांव के फौजी सचिन की शादी थी। डीजे पर युवक नाच रहे थे। इसी दौरान मोहित ने राइफल से कई फायर किये। एक गोली वीडियो बना रहे आजाद नगर के सोहन भारद्वाज के पेट को चीरते हुए बाहर निकल गई। घायल सोहन को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई। मतलौडा थाना पुलिस ने पहले नरेश रावल को आरोपित बनाया। वारदात का वीडियो वायरल होने के बाद मोहित को मुख्य आरोपित बनाया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस