जागरण संवाददाता, पानीपत : ठग ने खुद को जानकार बता कंबल व्यापारी भूपेंद्र कुमार के बेटे के पास गूगल पे पर 12 रुपये भेजकर खाते से 39 हजार 700 रुपये निकाल लिए। दूसरी ओर बिशनस्वरुप कालोनी निवासी सुभाष जैन के खाते से भी 3100 रुपये निकाल लिए।

जैन मोहल्ला निवासी भूपेंद्र कुमार ने सिटी थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसका कंबल का काम है। दुकान व गोदाम काबड़ी रोड पर है। उसके मोबाइल पर एक नंबर से काल आई। रिसीव करने पर बोलने वाले खुद को संदीप शर्मा बताते हुए कहा कि मुझे आपको पेमेंट करनी है। गूगल पे से करूं या पेटीएम से। उसने अपने लड़के तीर्थ का मोबाइल नंबर दे दिया, जिस पर गूगल पे रजिस्टर्ड है। फिर कुछ देर बाद संदीप शर्मा का फोन उसके बेटे के पास आया। उसने पहले बेटे के पास दो रुपये भेजे और फिर एक हजार रुपये भेजने के लिए क्यूआर कोड भेजा। उस पर बेटे ने जैसे ही लिक किया तो उसके खाते से 10 हजार रुपये कट गए। इस पर बेटे ने शर्मा से बात की तो उसने कहा कि गलती से पैसे कट गए। दोबारा लिक भेज रहा हूं। उससे पैसे वापस आ जाएंगे। फिर उसने क्यूआर कोड भेजा। उसे बेटे ने जैसे ही क्लिक किया तो खाते से फिर 10 हजार रुपये कट गए। लड़के ने फिर से पैसे कटने की बात कहीं तो ठग ने लिक में कुछ गड़बड़ की बात बोल कहा कि आप मुझे पांच रुपये भेजो। आपके खाते में 10 रुपये आ जाएंगे। इस बार बलकार सिंह के खाते से बेटे के खाते में 10 रुपये आ गए।

आरोप है कि खुद को संदीप शर्मा बताने वाले ने तीसरी बार लड़के के पास क्यूआर कोड भेजा। उसने फिर क्लिक किया तो खाते से तीसरी बार 19 हजार 700 रुपये कट गए। भूपेंद्र कुमार का कहना है कि संदीप शर्मा बताने वाले ठग ने उसके साथ धोखाधड़ी कर खाते 39 हजार 700 रुपये निकाले। पुलिस ने कंबल व्यापारी के बयान पर आरोपित के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। केस नंबर -2

बिशनस्वरुप कालोनी निवासी सुभाष जैन ने पुलिस शिकायत में बताया कि सुबह साढ़े नौ बजे के करीब उसके मोबाइल पर एक नंबर से काल आई। सामने वाले ने खुद का नाम कुमार वर्मा बताते हुए कहा कि वह एसबीआइ से बोल रहा है। आपके क्रेडिट कार्ड में दिक्कत है। उसे ठीक किया जा सकता है। ऐसा करके खुद को बैंक कर्मी बताने वाले ठग ने उससे एक्सिस बैंक खाते से संबंधित जानकारी हासिल कर ओटीपी जान लिया। इसके बाद खाते से 3100 रुपये निकल गए। दोबारा पैसे न निकले, इस डर में उसने एक्सिस के साथ एसबीआइ बैंक का क्रेडिट कार्ड तक बंद करा मामले की शिकायत पुलिस को दी।

Edited By: Jagran