जींद, जागरण संवाददाता। जींद में धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। जहां एक युवक ने कंपनी का कर्मचारी बनकर अपने परिवार के साथ मिलकर कंपनी को 14 लाख रुपये का चूना लगाया है। गुजरात की एक कीटनाशक कंपनी से एक युवक ने कर्मचारी बनकर लगभग 14 लाख रुपये का स्टाक हड़प लिया। शहर थाना पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

बतौर सेल्समैन कर रहा था काम 

ग्रीनलाइफ सेव एंड प्रोडेक्टर प्राइवेट लिमिटेड की डायरेक्टर गायत्री परिख ने शहर थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनकी अहमदाबाद गुजरात में आर्गेनिक बायो फर्टिलाइजर एंड पेस्टिसाइड बनाने का काम है। उनकी कंपनी में  गांव बुआना निवासी सुनील कुमार चार अगस्त 2018 को उनकी कंपनी में जींद में सेल्समैन लगा था। सुनील कुमार शुरुआत में कंपनी के लिए अच्छा काम करता रहा और समय पर कंपनी की पैमेंट देता था। इसी दौरान आरोपित सुनील कुमार ने कंपनी की डायरेक्टर गायत्री परिख को लालच दिया कि जींद में कंपनी के उत्पादों का एक गोदाम खोल दें। इसके बाद बिक्री भी बढ़ेगी और खर्च भी कम हो जाएगा।

गोदाम खुलवाने के नाम पर धोखाधड़ी

आरोपित ने कहा कि वह गोदाम वह संभाल लेगा। इस पर कंपनी की डायरेक्टर उनकी बातों में आ गई और आरोपित ने रोहतक रोड स्थित सुभाष नगर में 2500 रुपये में गोदाम ले लिया और इसका किराये के लिए उसके भाई अनिल कुमार का खाता दे दिया। इसके बाद कीटनाशक आरोपित के पास भेजनी शुरू कर दी। थोड़े दिनों तक ठीक ठाक चलता रहा, लेकिन बीच में कंपनी की डायरेक्टर गायत्री परिख गोदाम देखने के लिए आए तो वहां पर केवल खाली डिब्बे रख दिए। जब डारेक्टर ने स्टाक के बारे में पूछा तो उसने कहा कि वह दूसरी जगह पर रखा हुआ है और उनके पहुंचते ही पूरा स्टाक का रिकार्ड भेज देंगे। आरोपित ने स्टाक बनाकर कंपनी को भेज दिया। 15 जुलाई को आरोपित ने अचानक ही कंपनी को इस्तीफा भेज दिया, लेकिन कंपनी ने इस्तीफा मंजूर करने से पहले स्टाक की जांच करने के लिए आई तो वहां पर सामान नहीं था। जब स्टाक देने के लिए कहा तो उसने कहा कि वह तो दूसरे कमरे में रखा हुआ है और उसकी चाबी उसके पास नहीं है।

आरोपित ने दूसरी कंपनी कर ली ज्वाइन

11 सितंबर को कंपनी को यह पता लगा कि आरोपित सुनील कुमार ने दूसरी कंपनी ज्वाइन कर ली है। इसी दौरान आरोपित ने भगवती बीज भंडार नरवाना से 84 हजार 749 व एक किसान सुरेश कानुन से 52 हजार 187 रुपये की राशि भी लेकर अपने खाते में डलवा ली और कंपनी के पास जमा नहीं करवाया। इसके अलावा लगभग 13 लाख 60 हजार 216 की कीटनाशक को हड़प लिया। आरोपित ने बाद में फर्जी खर्च के बिल बनाकर कंपनी को भेज दिए। अब आरोपित कंपनी की राशि को देने से मना कर रहा है। मामले के जांच अधिकारी एएसआइ सुधीर कुमार ने बताया कि शिकायत के आधार पर गांव बुआना निवासी सुनील कुमार, अनिल कुमार व उनके पिता ब्राह्मप्रकाश के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

Edited By: Rajesh Kumar