अंबाला, जागरण संवाददाता। पानीपत के सरकारी अस्पतालों में कोरोना को लेकर शुरू फ्लू ओपीडी के सहारे स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों की खोज करने में जुटा है। फ्लू ओपीडी में पहुंच रहे मरीजों की हिस्ट्री की जांच में खुलासा हुआ कि टीबी और अस्थमा से पीड़ित मरीज के कोरोना संक्रमित होने का ग्राफ कम होने लगा है। जिले में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से बनाए गए फ्लू ओपीडी में एंटीजन किट से कोरोना की जांच हो रही है। इससे मरीज के संक्रमित होने की जानकारी मात्र आधे घंटे के भीतर स्वास्थ्य विभाग को मिल जाती है।

अब तक की स्टडी के मुताबिक फ्लू ओपीडी में आने वाले मरीजों की संख्या को देखा जाए तो यहां पंजीकृत होने वाले 90 फीसदी मरीज सामान्य वायरल से ग्रस्त है, जबकि 1 प्रतिशत मरीज ही कोरोना संक्रमित होते हैं। वह भी इस तरह संक्रमित होते हैं कि उन्हें कोरोना की हिदातयों का पालन और डाक्टर के परामर्श पर दवा का इस्तेमाल करने पर ही वह वायरस को मात देने में कामयाब होने में सफल होते हैं।

जिले में 27 स्थानों पर फ्लू ओपीडी

स्वास्थ्य महकमें ने जिले में कोरोना मरीजों की पहचान करने के लिए 27 फ्लू ओपीडी चल रही है। इसमें नागरिक अस्पताल छावनी, शहर के अलावा 18 पीएचसी और 4 सीएचसी पर फ्लू ओपीडी संचालित किया जा रहा है। यहां नमूने लेकर जांच रिपोर्ट संबंधित को दी जा रही है।

कोरोना को लेकर जिले में शुरू की गई फ्लू ओपीडी में संक्रमितों की जांच की जा रही है। अब अगर संक्रमण को रोकना है तो जारी हिदायतों का लोगों को पालन करके आदत में शामिल करना होगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम दिनरात जुटी है।

- डा. कुलदीप सिंह, सीएमओ अंबाला।

जानिए वायरल बुखार के लक्षण

- गले में दर्द होना

- सिरदर्द

- तेज बुखार

- सर्दी खांसी

- गले में खरास रहना

- शरीर में दर्द

- उल्‍टी जी मचलाना

बचाव

-एक नियमित अंतराल में हाथ जरूर धोएं

- खांसते या छींकते समय रुमाल का प्रयोग करें।

- वायरल फ्लू होने पर चिकित्‍सकीय सलाह जरूर लें।

- गुनगुना पानी पीएं

- रोजाना हल्‍दी वाला दूध पीएं।

- ठंडी चीजों से दूरी बनाएं

Edited By: Anurag Shukla