यमुनानगर, जागरण संवाददाता। कोरोना से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग समाजसेवी संस्थाओं के सहयोग से टीकाकरण काे रफ्तार दे रहा है। पहले राधा स्वामी सत्संग भवन ने लगातार 108 घंटे चलने वाला शिविर लगाया। अब इसी राह पर चलते हुए संत निरंकारी भवन भी 108 घंटे तक लगातार टीकारण शिविर लगाएगा। इसमें संत निरंकारी के अनुयायी ड्यूटी देंगे। तीन शिफ्टों में चिकित्सा कर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इस टीकाकरण शिविर में रात को भी लोग टीका लगवा सकेंगे।

जिले में अभी तक नौ लाख 93 हजार 642 को कोरोना वैक्सीन की डोज लग चुकी है। इनमें सात लाख 45 हजार 612 लोगों को पहली और दो लाख 48 हजार 30 को दूसरी डोज लग चुकी है। फिलहाल 80 फीसद टीकाकरण हाे चुका है, लेकिन अभी काफी ऐसे लोग हैं। जिन्हें पहली डोज भी नहीं लग सकी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग की ओर से पूरे जिले में केंद्र बनाए जा रहे हैं, लेकिन लंबी लाइनों को देखकर लोग पीछे हट जाते हैं। इसके साथ ही नौकरीपेशा व श्रमिकों के सामने बड़ी दिक्कत है। वह सुबह काम पर चले जाते हैं और शाम को लौटते हैं। जिस वजह से वह टीका नहीं लगवा पाते। विशेषतौर पर ऐसे लोगों के लिए यह व्यवस्था की गई है। जिससे वह ड्यूटी से आने के बाद रात में कोरोना से बचाव का टीका लगवा सके।

चिकित्सा कर्मी व अनुयायी मिलकर करेंगे काम

दिन रात शिविर चलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग को बड़ी टीम चाहिए। इससे पहले जब राधा स्वामी सत्संग भवन में शिविर लगाया गया था, तो वहां पर भी राधा स्वामी के अनुयायियों की टीम ने कार्य किया। टीका लगवाने के लिए आने वालों के बैठने व सुचारु रूप से कार्यक्रम इन अनुयायियों की वजह से हो पाया। इसी तरह से अब संत निरंकारी सत्संग भवन की टीम चिकित्साकर्मियों के साथ मिलकर कार्य करेगी।

सिविल सर्जन डा. विजय दहिया ने बताया कि दिन रात चलने वाले टीकाकरण शिविर को शुरू कर दिया है। काफी लोग ऐसे हैं, जो दिन के समय जाब या काम की वजह से टीकाकरण के लिए नहीं आ पाते। ऐसे लोगों के लिए यह शिविर लगाया गया है। इससे सभी का टीकाकरण होगा और टीकाकरण का लक्ष्य भी जल्द से जल्द पूरा हो सकेगा।

ब्रांच संयोजक बलदेव सिंह ने बताया कि 24 सितंबर की सुबह नौ बजे से लेकर 28 सितंबर की शाम चार बजे तक लगातार टीकाकरण होगा। यह संत निरंकारी भवन में चलेगा। इसमें निरंकारी सेवादल के सदस्य सेवा देंगे।

Edited By: Anurag Shukla