जागरण संवाददाता, पानीपत : लंबे समय तक पुलिस को छकाता रहा झपटमार आखिर अपनी ही जाल में फंसकर पुलिस के हत्थे चढ़ गया। वह चोरी की चेन बेचने ाया था कि पुलिस ने दबोच लिया।

झपटमार गिरोह के बदमाश रवींद्र उत्तर प्रदेश के जिला शामली के मस्तगढ़ गांव का रहने वाला है। समालखा ब्लॉक शिक्षक विस्तारक (बीईई) अग्रसेन कॉलोनी निवासी यशपाल महला की चेन झपटने वाले रवींद्र को पुलिस ने वारदात के 18 दिन बाद गिरफ्तार किया है। वह यशपाल से झपटी चेन नूरवाला में बेचने के लिए आया था। रवींद्र ने पानीपत में छह चेन झपटने की वारदात स्वीकारी हैं। इसके अलावा वह और उसका साथी यमुनानगर में एक और करनाल की नौ चेन झपटमारी की वारदातों में वांटेड है।

पुलिस ने आरोपित रवींद्र को अदालत में पेश किया, जहां से उसे दो दिन की रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान पुलिस आरोपित से उसके फरार साथी शामली के ¨पटू के ठिकानों और उन्होंने कहां-कहां से चेन झपटी हैं इसका पता लगाया जाएगा।

झपटमार ऐसे फंसा पुलिस के शिकंज में

एएसपी चंद्रमोहन ने बताया कि सीआइए-1 टीम प्रभारी इंस्पेक्टर दीपक कुमार को शुक्रवार शाम को सूचना मिली कि चेन झपटमार गिरोह का एक बदमाश झपटी गई चेन को बेचने के लिए नूरवाल अड्डे पर घूम रहा है। इंस्पेक्टर दीपक ने एएसआइ अंग्रेज के नेतृत्व में टीम मौके पर भेजी। टीम ने पैदल घूम रहे रवींद्र को सोने की झपटी चेन के आधे टुकड़े सहित गिरफ्तार किया। रवींद्र ने बताया कि उसने 12 जून को अपने साथी ¨पटू के साथ मिलकर अग्रसेन कॉलोनी में एक व्यक्ति की सोने की आधी चेन झपट ली थी। थाना मॉडल टाउन में मामला दर्ज है। ऐसे दिया था वारदात को अंजाम

12 जून की सुबह 5:40 बजे स्वास्थ्य विभाग के समालखा ब्लॉक के शिक्षक विस्तारक अग्रसेन कॉलोनी के यशपाल महला सैर करके घर लौटे थे। तभी उन्होंने फ्लैट का बिजली का तार टूटा देखा। वह तार ठीक करने लगे। उनके मकान के दस मीटर दूर हेलमेट पहने बाइक पर बदमाश बैठा था। टोपी पहने एक बदमाश उनके पास आया और बोला कि भाई साहब रात से उसके मुहल्ले का भी तार टूटा हुआ है। बिजली न होने से वह और उसके बच्चे सो नहीं पाए। वह तार ठीक करवा देता है। उन्होंने सोचा कि बदमाश आसपास का रहने वाला है। वह जैसे ही मुड़ा तो बदमाश ने उनकी तीन तोले की सोने की चेन झपटी। उन्होंने चेन को हाथ में पकड़ लिया। बदमाश उनकी आधी चेन झपट कर अपने साथी की बाइक पर बैठकर भाग गया। 20 मीटर तक चोर-चोर का शोर मचाकर बदमाशों का पीछा किया, लेकिन वे बालाजी अस्पताल की तरफ भाग गए। बदमाशों की बाइक पर नंबर प्लेट नहीं था। बदमाशों की तस्वीर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। पहले रेकी करते थे, फिर चेन झपटकर उप्र भाग जाते : पुलिस पूछताछ में आरोपित रवींद्र ने बताया कि वारदात करने से पहले वह और उसका साथी ¨पटू कई दिन तक रेकी करके पता लगाते थे कि किस क्षेत्र में सीसीटीवी नहीं लगे हैं। किस समय गली में लोगों की आवाजाही कम रहती है। इसके बाद वे वारदात को अंजाम देकर अपने घर भाग जाते थे। कई दिन बाद दूसरी वारदात कर देते थे। शहर में ये हुई झपटमारी की वारदात

-12 जून को अग्रसेन कालोनी के यशपाल महला की सोने की आधी चेन झपट ली।

-12 जून को आठ मरला स्थित काली मंदिर के पुजारी राहुल शर्मा की मां सजना देवी की सोने की चेन झपट ली।

-15 जून सेक्टर पार्ट-2 के रमेश चंद्र की सोने की चेन झपट ली।

-21 जून को चंडीगढ़ निवासी सोनिया के उसके भाई की दत्ता कॉलोनी स्थित दुकान से सोने की चेन झपट ली।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस