संवाद सहयोगी, घरौंडा

शहर की सरकार को गिराने के लिए नगर पालिका के 13 पार्षद एकजुट हो गए हैं। लामबंद हुए पार्षदों ने वीरवार को डीसी को अविश्वास प्रस्ताव सौंप कर चेयरमैन सुभाष गुप्ता को पद से हटाए जाने की मांग की है। पार्षदों का आरोप है कि अध्यक्ष का रवैया तानाशाहपूर्ण है और विकास कार्यो में भेदभाव बरता जा रहा है। गौरतलब है कि करीब ढाई वर्ष पहले सभी 17 पार्षदों ने सर्वसम्मति से भाजपा के सुभाष गुप्ता को नपा चेयरमैन मनोनीत किया था।

नगर पालिका सदन में काफी समय से चल रहा अंत:कलह आखिरकार खुलकर बाहर आ गया। डीसी को दिए प्रस्ताव में पार्षदों ने आरोप लगाया है कि अध्यक्ष सामजिक कार्यो व शहर के विकास कार्यो को नजर अंदाज करते हुए टालमटोल का रवैया अपनाता है। अध्यक्ष किसी भी मुद्दे पर उनसे सहमति नहीं बनाता बल्कि अपना ही रौब जमाता है। अध्यक्ष के आचरण के कारण विकास कार्यो में बाधा आ रही है। उन्होंने डीसी से अध्यक्ष सुभाष गुप्ता को पद से हटाए जाने की मांग की है। विधायक ने नहीं सुनी पार्षदों की नाराजगी

नपा उपाध्यक्ष कंवलजीत ने आरोप लगाया कि वे अध्यक्ष के मनमाने रवैये की शिकायत कई बार विधायक हर¨वद्र कल्याण को कर चुके है लेकिन विधायक ने उनकी शिकायत को कोई तव्वजों नहीं दी। अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में वार्ड नंबर-2 से पार्षद बबली, वार्ड-5 से नीलम ¨सगला, वार्ड छह से शीला देवी, वार्ड 7 से कंवलजीत, वार्ड-9 से विक्रमजीत, वार्ड-10 से राम ¨सह, वार्ड-11 से उषा देवी, वार्ड-12 से अमरीक ¨सह, वार्ड-13 से विकास कुमार, वार्ड-14 से ओंकार शर्मा, वार्ड-15 से पंकज गुलाटी, वार्ड-16 से प्रोमिला व वार्ड-17 से सुनील पाल डीसी से मिलने पहुंचे। डीसी को अविश्वास प्रस्ताव देने के बाद सभी 13 पार्षद व प्रतिनिधि भारत भ्रमण पर निकल गए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस