जागरण संवाददाता, पंचकूला : गाव वजीरमाजरा मढ़ावाला निवासी महिला ने ससुराल वालों पर उसके पति को गायब करने का आरोप लगाया है। महिला का आरोप है कि उसके ससुराल वाले प्रॉपर्टी हड़पना चाहते हैं। इसीलिए उन्होंने साजिश रची है। महिला ने हरियाणा के डीजीपी से गुहार लगाई है कि उसके लापता पति का सुराग लगाया जाए। यदि ऐसा नहीं किया गया तो वह सेक्टर 6 स्थित डीजीपी कार्यालय के आगे आत्मदाह करने को मजबूर होगी।

लक्ष्मी देवी का आरोप है कि उसके रिश्तेदार मोहिंद्र और सुशील कुमार ने मिलकर उसके पति को गायब करवा दिया है। इसकी जानकारी उसकी सास, भाभी, देवर, चाचा ससुर को भी है, लेकिन वह उसे मिलने नहीं दे रहे हैं। बुधवार को प्रेसवार्ता के दौरान पीड़िता ने पत्रकारों को आपबीति सुनाई। कहा कि वह पुलिस, सीएम विंडो और महिला आयोग को शिकायत दे चुकी है, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई।

लक्ष्मी देवी ने बताया कि उसका विवाह विपिन उर्फ छोटू के साथ कुछ वर्ष पहले हुआ था। शादी के बाद से पति के रिश्तेदार गांव कोना निवासी मोहिंद्र और सुशील ने उनके पारिवारिक मामलों में दखल देना शुरू कर दिया। वे उसे भी परेशान करने लगे। उन्होंने ससुराल वालों को भी भड़काना शुरू कर दिया और दहेज के लिए दबाव बनाने लगे।

लक्ष्मी देवी ने बताया कि एक बार उन्होंने विपिन को फोन कर बुलाया। उनके बुलावे पर विपिन घर से निकला, लेकिन दोबारा घर वापस नहीं लौटा। गर्भवती होने के बावजूद की मारपीट

महिला ने बताया कि सात जुलाई 2018 को मोहिंदर और सुशील कुमार की ओर से रची गई साजिश के तहत उसकी सास किरनों, भाभी पूजा, देवर गौतम व सचिन, चाचा ससुर जुगनू और सुनील कुमार एक साथ वजीर माजरा स्थित घर पर आए। इस बीच उन्होंने पीड़िता के साथ मारपीट की। तब वह 6 माह की गर्भवती थी।

लक्ष्मी देवी ने बताया कि उसने मारपीट की शिकायत पुलिस से की, लेकिन पुलिस ने शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की। जबकि पुलिस को उसने अपना मेडिकल रिपोर्ट भी दिखाया।

Posted By: Jagran