जेएनएन, चंडीगढ़। केंद्र की तर्ज पर हरियाणा में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती लगातार दो साल तक मनेगी। इसके तहत सरकारी स्तर पर 2 अक्टूबर को बापू की 150वीं जयंती से कार्यक्रम शुरू होंगे जो 2 अक्टूबर 2020 तक चलेंगे। इस दौरान सभी कार्यक्रमों में राष्ट्रपिता की झलक दिखेगी। अगले साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस की परेड में भी हरियाणा की सभी झांकियां महात्मा गांधी की जीवनी को समर्पित होंगी। बापू पर विधानसभा का एक विशेष सत्र भी बुलाया जाएगा।

सरकार की ओर से बापू के विचारों से आमजन को अवगत कराने के लिए पदयात्राएं भी निकाली जाएंगी। पदयात्रा में 150 युवा प्रतिदिन दस किलोमीटर का सफर तय करेंगे और यह पदयात्रा 150 दिन तक चलेगी। इसी तरह साइकिल यात्रा, सरकारी योजनाओं के जागरूकता कार्यक्रम, नशा विरोधी अभियान चलाते हुए महात्मा गांधी की शिक्षाओं का प्रसार किया जाएगा।

राष्ट्रीय स्तर पर सांस्कृतिक संबंधों को सुदृढ़ करने के लिए एक भारत-श्रेष्ठ भारत कार्यक्रम के तहत हर राज्य से पांच विद्यार्थी शामिल किए जाएंगे जो कुछ समय तक शिविरों में एक साथ रहेंगे। बापू के जीवन पर लघु फिल्म व अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता के अलावा स्कूलों में निबंध, चित्रकला और प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताएं कराई जाएंगी। स्वच्छ भारत अभियान एवं खादी एवं ग्राम उद्योग को प्रोत्साहित करते हुए वर्ष 2019 को शांति एवं सांप्रदायिक सौहार्द वर्ष घोषित किया जाएगा।

सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए महात्मा गांधी पर राष्ट्रीय राजमार्गों पर चलचित्र, डिस्पले बोर्ड व अन्य सूचनात्मक वाक्य प्रदर्शित किए जाएंगे। समाज के कमजोर वर्गों, अनुसूचित जाति व पिछड़े वर्ग के सामाजिक व आर्थिक उत्थान के कार्यक्रम चलाने का खाका तैयार किया जा चुका। जलस्रोतों के पुनरोत्थान व जल संरक्षण को एक मिशन मोड में लेते हुए महिला एवं कमजोर वर्गों के विरुद्ध हिंसा रोकने के लिए लोगों को जागरूक किया जाएगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt