Move to Jagran APP

Haryana News: हरियाणा के इन तीन जिलों में सुधरेगा सीवरेज और पेयजल आपूर्ति सिस्टम, सीएम ने दी 340 करोड़ रुपये की मंजूरी

हरियाणा में सरकार ने तीन जिले अंबाला हिसार और फतेहाबाद में सीवरेज और पेयजल आपूर्ति सिस्टम (Sewerage and Drinking Water Supply System in Haryana) में सुधार के लिए सरकार ने पांच परियोजनाओं को मंजूरी दे दी है। इन पांचों परियोजनाओं में 340 करोड़ रुपये की मंजूरी दी गई है। जिसमें अंबाला जिले में ही परियोजनाओं पर 166 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

By Sudhir Tanwar Edited By: Deepak Saxena Tue, 09 Jul 2024 03:12 PM (IST)
हरियाणा के इन तीन जिलों में सुधरेगा सीवरेज और पेयजल आपूर्ति सिस्टम (फाइल फोटो)।

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। अंबाला, हिसार और फतेहाबाद जिले में सीवरेज और पेयजल आपूर्ति सिस्टम में सुधार होगा। मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने 340 करोड़ रुपये की पांच परियोजनाओं को मंजूरी दी है।

अंबाला जिले में परियोजनाओं पर 166 करोड़ रुपये खर्च होंगे, जिनमें नगर निगम क्षेत्र में शामिल किए गए 11 गांवों में सीवरेज नेटवर्क का विस्तार, नया गांव में मौजूदा स्थल पर 1.25 एमएलडी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी), कंवला गांव के लिए 1.40 एमएलडी एसटीपी तथा अंबाला शहर के देवीनगर में अंबाला ड्रेन के लिए 50 एमएलडी एसटीपी का निर्माण शामिल है।

सीवरेज सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए खर्च होंगे 65 करोड़

हिसार जिले में अमृत 2.0 परियोजना के तहत हांसी शहर में पेटवाड माइनर के बजाय नहर की बरवाला ब्रांच से पानी की व्यवस्था की जाएगी, जिस पर 61 करोड़ रुपये से खर्च होंगे। आदमपुर में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट और मौजूदा सीवरेज सिस्टम को मजबूत करने के लिए 65 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

ये भी पढ़ें: Haryana News: सीएम सिटी करनाल में पेयजल व्यवस्था की हालत बदतर, नल से घर पर पानी की जगह आ रही बीमारियां

जाखल शहर में पेयजल आपूर्ति योजना का विस्तार

फतेहाबाद जिले में जाखल शहर में पेयजल आपूर्ति योजना का विस्तार और एक नई जल आपूर्ति पाइपलाइन बिछाने की मंजूरी मिली है। इस पर सात करोड़ रुपये खर्च होंगे। रतिया शहर में पाइप लाइनों को बिछाना, पुरानी पाइप लाइनों को बदलना, संतुलन क्षमता जलाशय के लिए पंपिंग सेट की आपूर्ति और निर्माण किया जाएगा। इस परियोजना की लागत करीब 41 करोड़ रुपये है।

ये भी पढ़ें: Haryana News: वैट घोटाला मामले में ED की बड़ा एक्शन, प्रदेश के 14 स्थानों पर की छापेमारी