नई दिल्ली/चंडीगढ़ जेएनएन। चौटाला परिवार की एकजुटता की को‍शिशाेें के बीच इसमें पेंच फंसता दिख रहा है। जननायक जनता पार्टी के संयोजक दुष्‍यंत चौटाला पूरे मामले में दुविधा में नजर आ रहे हैं। इसके साथ ही उन्‍होंने पूरे चौटाला परिवार को एक साथ लाने की बात कह कर पूरे मामले को नया मोड़ दे दिया है। दूसरी ओर दुष्‍यंत चौटाला की मां नैना चौटाला ने औपचारिक रूप से इनेलो (INLD) से इस्‍तीफा दे दिया है। दूसरी ओर, खाप पंचायत के पदाधिकारी एकता की कोशिशों में पूरी शिद्दत से जुटे हैं और उनका कहना है कि जल्‍द ही चौटाला परिवार में एकजुटता की तस्‍वीर साफ हो जाएगी।

सर्वखाप पंचायत के नेता बृहस्‍पतिवार के दिल्ली में डटे रहे और बताया जाता है कि वे आज (शुक्रवार) को भी दिल्‍ली में हैं। यहां खाप पंचायत के पदाधिकारियों ने जननायक जनता पार्टी के नेता दुष्यंत चौटाला से भी उनकी राय जानी लेकिन अभी तक पंचायत के पास कोई ठोस निर्णय नहीं आया है। खाप पंचायत की तरफ से दलाल खाप के नेता रमेश दलाल ने दहिया खाप के सुरेंद्र दहिया और पंडित अतर सिंह के समक्ष साफ किया कि दोनों पक्षों ने उनके प्रस्ताव पर सकारात्मक रुख दिखाया है। उनका कहना है कि आने वाले दिनों में चौटाला परिवार एकजुट नजर आएगा।

नई दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में खाप पंचायत पदाधिकारियों ने एक बैठक कर पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को कांग्रेस में मिली राजनीतिक ताकत पर भी मंत्रणा की। असल में खाप पंचायत के पदाधिकारी चाहते थे कि किसानों के हित में चौटाला परिवार एकजुट करने के बाद वे हुड्डा के साथ ऐसा महागठबंधन तैयार करेंगे जो भाजपा के विजयी रथ को रोक देगा। मगर महागठबंधन की यह तस्वीर तभी तक बन रही थी जब तक हुड्डा कांग्रेस छोड़कर अलग पार्टी बनाते। हालांकि खाप पंचायत के पदाधिकारी अभी भी मान रहे हैं कि जिस दिन चौटाला परिवार एकजुट होगा,उस दिन इनेलो, जेजेपा, बसपा और कांग्रेस का महागठबंधन हो सकता है।

पंचायत के प्रयास रंग लाएंगे : दलाल

दलाल खाप के नेता रमेश दलाल ने कहा कि भाजपा पंचायत के प्रयासों को रोकने के लिए अपने राजनीतिक अस्त्र-शस्त्र चला रही है। पंचायत का उद्देश्य है कि भाजपा के समक्ष मजबूत विपक्ष देना। उन्होंने कहा कि मनोहर लाल को दोबारा मुख्यमंत्री बनने से रोकने के लिए पंचायत हर संभव प्रयास करेगी।

यह भी पढ़ें: Batala blast: वर्षों पहले मृत व्‍यक्ति के नाम पर चल रही थी यह 'हत्यारी' फैक्टरी, जानें हादसे का सच

नैना चौटाला सहित चार पूर्व विधायकों ने औपचारिक रूप से छोड़ी इनेलो

उधर, जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) समर्थक चारों पूर्व विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता छोडऩे के बाद अब इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) से भी इस्तीफा दे दिया है। पूर्व विधायक नैना सिंह चौटाला, राजदीप सिंह फौगाट, अनूप धानक और पिरथी नंबरदार ने बृहस्पतिवार को इनेलो के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला को लिखित में इस्तीफा भेज दिया। इसकी कॉपी प्रदेश अध्यक्ष बीसएस ढालिया को भी भेजी गई है।

यह भी पढ़ें: जानें बटाला के अस्‍पताल में क्‍यों भड़के सनी देयोल, कहा- समझ में नहीं आता मैं जानवर या आप

बदले घटनाक्रम से खाप पंचायतों की चौटाला परिवार को एक करने की कोशिशों पर पानी फिरना दिख रहा है। दल-बदल विरोधी कानून के तहत आरोपों का सामना कर रहे चारों विधायकों ने मंगलवार को ही विधायक पद से इस्तीफा दिया था। चारों पूर्व विधायकों ने इस्तीफों की कॉपी प्रदेश अध्यक्ष बीडी ढालिया के चंडीगढ़ स्थित निवास पर भेजी है। साथ ही इनेलो सुप्रीमो चौटाला को डाक के जरिये इस्तीफा भेजा गया है। ईमेल के जरिये भी इनेलो कार्यालय, चंडीगढ़ को इस्तीफा भेजा गया है। विधायक पद और इनेलो की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद अब चारों पूर्व विधायक खुलकर जजपा के मंचों पर नजर आएंगे।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप