जागरण संवाददाता, पंचकूला

पंचकूला में स्कूलों द्वारा फीस में बढ़ोतरी के विरोध में अभिभावकों का लगातार प्रदर्शनों का दौर जारी है। सोमवार को हंसराज पब्लिक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक जिला शिक्षा अधिकारी से मिले और उन्हें स्कूल द्वारा बढ़ाई गई फीस के संबंध में शिकायत दी। अभिभावकों ने कहा कि 23 अप्रैल 2020 के हरियाणा सरकार के निर्देश के अनुसार स्कूलों द्वारा फीस वसूली के लिए नई गाइडलाइन जारी की गई है।

स्कूल की वेबसाइट अभी भी 14 हजार 800 देय राशि दिखा रखी है, जोकि 20 प्रतिशत बढ़ी हुई ट्यूशन फीस है। वेबसाइट के नोटिस में कहा गया है कि जो अभिभावक फीस का भुगतान नहीं करना चाहता, वह 12 हजार 300 जो पिछले साल की ट्यूशन फीस है, जमा कर सकते हैं। मगर स्कूल का यह दावा पूरी तरह से गलत है और स्कूल द्वारा वेबसाइट पर 14 हजार 800 रुपये ही फीस दिखाई जा रही है। अभिभावकों ने बताया कि हर साल जनवरी-फरवरी में स्कूल लिखित में सूचित करता है कि स्कूल की फीस 10 प्रतिशत बढ़ाई जाएगी और माता-पिता से स्वीकृति मांगी जाती है। माता-पिता स्पष्ट रूप से हस्ताक्षर करते हैं और सहमत होते हैं, क्योंकि उनके पास कोई विकल्प नहीं होता। ऐसा ही फरवरी 2019 में भी हुआ था।

किस्तों में जमा करवा सकते हैं फीस

स्कूल के सीनियर असिस्टेंट प्रकाश कुमार ने कहा कि अभिभावक पिछले साल के मुताबिक ही फीस कमा करवा दें, उनपर नई फीस जमा करवाने के लिए कोई दबाव नहीं है। अभिभावक किस्तों में भी फीस जमा करवा सकते हैं, उन पर किसी प्रकार का जुर्माना नहीं लगेगा। जिला शिक्षा अधिकारी उर्मिला रोहिला ने बताया कि फीस एंड फंड्स रेगुलेटरी कमेटी के समक्ष अब तक जितने भी स्कूलों की शिकायतें मिली हैं, उन्हें हीरिग के लिए भेजा जाएगा। अभी तक 17 स्कूलों के खिलाफ शिकायतें मिली हैं। सभी प्राइवेट स्कूलों से फीस स्ट्रक्चर के संबंध में जानकारी मांगी गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस