राजेश मलकानियां, पंचकूला : हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) के कर्मचारियों के लिए सेक्टर-15 स्थित बनाई पुरानी हुडा कॉलोनी की हालत पिछले लंबे समय से जर्जर है। इन घरों में रहने वाले कर्मचारियों के साथ कभी भी कोई हादसा हो सकता है। कॉलोनी में रहने वाले लोग हर समय डर के साए में जी रहे हैं। कॉलोनी के घरों की दीवारों में दरारें आ चुकी हैं। दीवारों का मेटेरियल पूरी तरह से झड़ रहा है। कई बार तो सीमेंट एवं ईटें लोगों पर भी गिर चुकी हैं। बिल्डिंग के किसी भी हिस्से का गिरने का भय बना हुआ है। यहां पर सभी सरकारी कर्मचारी रहते हैं। कर्मचारी कई बार जिला प्रशासन और संबंधित विभाग को शिकायत दे चुके हैं, ताकि रिपेयर हो सके। छत की दीवारों में बरसात का पानी आ जाता है, सीलन आ चुकी है। लोगों के बेडरुमों में हर समय पानी टपकता रहता है। लोगों का जीना दुर्लभ हो चुका है। यदि विभाग द्वारा जल्द ही कोई कदम नहीं उठाया गया, तो बड़े हादसे की लिए तैयार रहना होगा। कॉलोनी में रहने वाले सुनील, रामकरण, सुनीता देवी ने बताया कि कई मकानों की खिड़कियां टूट चुकी हैं। टंकियों की कभी सफाई नहीं करवाई जाती, टंकियों में काफी गंदगी एवं काई जम चुकी है। दीवारों में दरारें आने के कारण हर समय पानी घर के अंदर टपकता रहता है। सुनीता देवी के मुताबिक बरसात के दिनों में काफी परेशानी होती है। एक तो सड़कों पर पानी जमा रहता है, उससे ज्यादा घरों के अंदर पानी आ जाता है। घरों के छज्जे पूरी तरह झड़ चुके हैं। लोग अपने घरों के बरामदों में भी अब खड़े होने से डरते हैं। हालात इतनी खराब है कि कभी भी कोई हादसा हो सकती है। रामकरण ने बताया कि इस बारे में कई बार शिकायत दी जा चुकी है। हर बार आश्वासन देकर वापिस लौटा दिया जाता है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप