चंडीगढ़, जेएनएन। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ साध्वी यौन शोषण मामले में फैसला सुनाने वाले पंचकूला स्थित सीबीआइ कोर्ट  के जज जगदीप सिंह के सुरक्षा बेड़े में नई बुलेट प्रूफ गाड़ी शामिल की जाएगी। वर्तमान में उनके सुरक्षा बेड़े में जो गाड़ी है, वह काफी पुरानी हो चुकी और इस हालत में नहीं है कि किसी तरह का प्रहार झेल सके। जज जगदीप सिंह को पहले से ही जेड श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है।

स्‍टेट लेवल रिव्‍यू कमेटी ने किया फैसला, पहले की गाड़ी पुरानी हो गई थी

जज जगदीप सिंह की पुरानी बुलेट प्रूफ गाड़ी को बदलकर सुरक्षा बेड़े में नई बुलेट प्रूफ गाड़ी शामिल करने की सिफारिश हरियाणा में वीआइपी सुरक्षा के लिए गठित स्टेट लेवल रिव्यू कमेटी ने की है। इसी कमेटी की सिफारिश पर हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को जेड श्रेणी की सुरक्षा प्रदान कर दी गई है।

उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को नहीं मिलेगी जैमर गाड़ी, जेड श्रेणी की सुरक्षा में शामिल जवान तैनात

जेड श्रेणी की सुरक्षा में शामिल जवानों ने बृहस्पतिवार को मोर्चा संभाल लिया। कुछ जवानों को दुष्यंत चौटाला के चंडीगढ़ निवास पर तैनात किया गया तो कुछ जींद और सिरसा में भेजा गया है। कुछ जवान दुष्यंत के साथ चलेंगे, लेकिन उनके सुरक्षा काफिले में जैमर लगी गाड़ी शामिल नहीं होगी, क्योंकि वह मुख्यमंत्री को मिली सुरक्षा का हिस्सा है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल को जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है।

हरियाणा के एडीजीपी मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में हुई रिव्यू बैठक में आइजी सिक्योरिटी सौरभ सिंह, एसपी सिक्योरिटी हामिद अख्तर, सहायक निदेशक जेआर जस्सू तथा गृहविभाग के अंडर सेक्रेटरी महा सिंह ने भागीदारी की। बैठक में डेरा मुखी के विरूद्ध फैसला देने वाले सीबीआइ जज जगदीप सिंह व उनके परिवार को दिया गया सिक्योरिटी कवर पहले की तरह जारी रखने पर सहमति बनी। उन्हें भी सरकार ने जेड श्रेणी की सुरक्षा प्रदान कर रखी है।

यह भी पढ़ें: सात स्‍कूली बच्‍चों ने हरियाणा सरकार से जीती जंग, School building के लिए HC में लड़े नौनिहाल

पूर्व डीजीपी बीएस संधू भी सुरक्षा दायरे में

हरियाणा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ही जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा के दायरे में हैं। इसके अलावा राज्यपाल, उपमुख्यमंत्री, सीबीआइ के न्यायधीश तथा हरियाणा के पूर्व पुलिस महानिदेशक बीएस संधू जेड श्रेणी के सुरक्षा कवर में आते हैं। इसके अलावा गृहमंत्री समेत कई नेता वाई श्रेणी के सुरक्षा कवर में आते हैं। बीएस संधू उस समय हरियाणा के पुलिस महानिदेशक थे, जब सीबीआइ जज ने डेरा मुखी को सजा सुनाई थी। इसलिए सरकार को लगता है कि संधू की जान को खतरा हो सकता है।

दुष्यंत के लिए सिक्योरिटी की मांग की याचिका का निपटारा

दूसरी ओर, हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले दुष्यंत चौटाला द्वारा अपनी सुरक्षा की मांग को लेकर हाई कोर्ट में दायर की गई याचिका का पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने निपटारा कर‍ दिया। हरियाणा सरकार ने वीरवार को हाई कोर्ट को बताया कि दुष्यंत चौटाला अब राज्य के उप मुख्य मंत्री  हैं और गत दिवस ही उन्हें जेड कैटेगरी की सुरक्षा दी जा चुकी है। जस्टिस लीजा गिल ने हरियाणा सरकार द्वारा दी गई इस जानकारी के बाद इस याचिका का निपटारा कर दिया है। पिछली सुनवाई पर हरियाणा सरकार ने बताया था कि दुष्यंत चौटाला के उपमुख्यमंत्री के पद पर शपथ लिए जाने के बाद से ही उन्हें अब पर्याप्त सुरक्षा दे दी गई है।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

यह भी पढ़ें: कांस्टेबल पति ने बाल काट व मुंह काला कर पत्‍नी को गांव में घुमाया, सौतन लाने का किया था विरोध

 

 

 

यह भी पढ़ें: एक मां की जीवट व संघर्ष की कहानी, कैंसर को मात देकर बेटी को बनाया दुनिया का स्‍टार

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस