करनाल, जेएनएन। खेलो इंडिया यूथ गेम्स की तैयारियों को लेकर करनाल के खिलाड़ी अपने खेल को संवारने में जुट गए हैं। कोरोना संक्रमण के चलते स्टेडियम में अभ्यास बंद था और खिलाड़ी घर पर किसी तरह अपनी फिटनेस को कायम रख रहे थे।

युवा एवं खेल विभाग की ओर से खिलाड़ियों को मैदान में अभ्यास के लिए छूट देने के बाद कर्ण स्टेडियम में काफी दिनों बाद रौनक लौटने लगी है। खिलाड़ियों का मानना है कि अगर उनका अभ्यास जारी रहता है तो वे खेलो इंडिया में बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे। प्रशिक्षकों की मानें तो दस-दस खिलाड़ियों के बैच बनाकर कोराना बचाव गाइडलाइन का पालन करते हुए अभ्यास करवाया जा रहा है। खिलाड़ियों को खेल की बारीकियां समझाने के लिए अधिक समय लगाया जाएगा। ताकि, खेलो इंडिया में वे बेहतर प्रदर्शन कर सकें।

इस बार हरियाणा करेगा मेजबानी

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयास से इस बार खेलो इंडिया की मेजबानी हरियाणा को मिली है। प्रदेश का प्रतिनिधित्व करने वाले खिलाड़ी जोर-शोर से तैयारियों में जुट गए हैं। इनके लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं खेल विभाग द्वारा पूरी की गई हैं। अलग-अलग खेल के अभ्यास के लिए खिलाड़ियों ने पसीना बहाना शुरू कर दिया है। राष्ट्रीय स्तर पर एथलीट में प्रदर्शन कर मंजीत कुमार ने बताया कि प्रशिक्षक व खिलाड़ियों के साथ नेशनल व खेलो इंडिया के लिए खेल की बारीकियां सीख रहे हैं। कोरोना संक्रमण के कारण लंबे समय से खेल की गतिविधियों से दूर रहे हैं। अब जी-जान से तैयारी करने में जुटे हैं।

दस-दस खिलाड़ियों को दिया जा रहा प्रशिक्षण

करनाल के जिला खेल अधिकारी दिलबाग सिंह ने बताया कि  जिम्नास्टिक, कबड्डी, फुटबॉल, बास्केटबॉल, साइकलिंग, कुश्ती, तीरंदाजी, जूडो, टेबल टेनिस, बॉक्सिंग, वेटलिफ्टिंग, बैडमिंटन के खिलाड़ी अपने-अपने स्तर पर अभ्यास कर रहे हैं। कोरोना के कारण खिलाड़ियों को अभ्यास करने में परेशानी आई है लेकिन अब विभाग ने संक्रमण बचाव की गाइडलाइन के साथ दस-दस खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। सभी खिलाड़ियों को प्रशिक्षण मिल सके इसके लिए तय योजना के अनुसार खिलाड़ियों को मैदान में बुलाया जा रहा है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Umesh Kdhyani