जेेेेेेएनएन, चंडीगढ़। ITI Instructor Paper Leaked Case : हरियाणा में तमाम प्रयासों के बावजूद पेपर लीक होने के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे। तेजी से पांव पसार रहे पेपर लीक माफिया के छोटे-मोटे गुर्गों की गिरफ्तारियां तो हुईं, लेकिन मास्टरमाइंडों तक पुलिस के हाथ नहीं पहुंचने से पूरा नेटवर्क सक्रिय है। आइटीआइ इंस्ट्रक्टर पेपर लीक प्रकरण में चंडीगढ़ पुलिस और कर्मचारी चयन आयोग की अलग-अलग थ्योरी से कई तरह के सवाल उठ खड़े हुए हैं।

पिछले तीन-चार वर्षों की बात करें तो ऑल इंडिया पीएमटी पेपर लीक प्रकरण हो या हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की 12वीं का अंग्रेजी पेपर, केंद्रीय विद्यालय संगठन का प्राइमरी टीचर पेपर और क्लर्क भर्ती परीक्षा पेपर लीक गिरोह ने तमाम व्यवस्थाओं को धत्ता बता दिया। नौवीं कक्षा की परीक्षा, एनईईटी परीक्षा, बी फार्मेसी, एचसीएस न्यायिक भर्ती परीक्षा, कंडक्टर भर्ती और सहायक प्रोफेसर (कालेज कॉडर) की भर्ती परीक्षा के पेपर लीक होने के बाद अब आइटीआइ इंस्ट्रक्टर की परीक्षा विवादों में है।

चंडीगढ़ पुलिस जहां इस मामले में बड़े गिरोह के लिप्त होने की आशंका जता रही है, वहीं कर्मचारी चयन आयोग का दावा है कि पुलिस की कार्रवाई पेपर लीक होने से पहले हो गई थी। पेपर लीक नहीं हुआ है। इस प्रकरण के बाद विपक्ष ने एक बार फिर से सरकार को घेर लिया है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला के मुताबिक नई सरकार में अभी विकास कार्य तो शुरू नहीं हुए, अलबत्ता पेपर लीक होने फिर से शुरू हो गए हैं। पिछली सरकार में भी पेपर लीक की एक दर्जन से अधिक घटनाएं हुई थी।

रद नहीं हुई इंस्ट्रक्टर की परीक्षा : भारती

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (HSSC) के चेयरमैन भारत भूषण भारती ने इन चर्चाओं को खारिज किया आइटीआइ इंस्ट्रक्टर की भर्ती परीक्षा का पेपर रद हो गया है। उन्होंने कहा कि जब पेपर लीक ही नहीं हुआ तो रद करने का सवाल नहीं उठता। पुलिस ने जो भी कार्रवाई की है, वह न तो परीक्षा केंद्र के भीतर हुई और न ही हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को किसी तरह की कोई शिकायत मिली है। पुलिस की कार्रवाई से परीक्षा का कोई लेना देना नहीं है और आगे की परीक्षा भी अपने निर्धारित शेड्यूल के मुताबिक होगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021