जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज CID चीफ से मांगी गई जानकारियों के जवाब से संतुष्ट नहीं हैं। गृह मंत्री ने CID चीफ से उस रिपोर्ट की प्रति मांगी थी, जो विधानसभा चुनाव के दौरान उन्होंने सरकार को सौंपी थी। तीसरी बार मांगने के बाद गृह मंत्री के पास जो रिपोर्ट आई, उससे वे संतुष्ट नहीं थे। लिहाजा गृह मंत्री ने CID चीफ की ओर से भेजे गए जवाब के दोनों लिफाफे वापस लौटा दिए हैैं।

गृह मंत्री के गरम तेवरों के चलते पुलिस अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। गृह मंत्री ने 11 दिसंबर को CID चीफ से वह रिपोर्ट मांगी थी, जो उन्होंने विधानसभा चुनाव के दौरान सरकार को दी थी। इस रिपोर्ट में यह जिक्र है कि किस राजनीतिक दल को कितनी सीटें मिल सकती हैैं। इसके अलावा किस सीट पर कौन उम्मीदवार हावी है और कौन कमजोर तथा उसकी मजबूती अथवा कमजोरी के क्या कारण हैैं।

विधानसभा चुनाव में 75 पार का नारा देकर आगे बढ़ रही भाजपा के लिए इस बार के चुनाव नतीजे बेहद चौकाने वाले रहे। गृह मंत्री ने CID की रिपोर्ट की तह में जाने के लिए वह रिपोर्ट तलब कर ली, जो गोपनीय होती है और चुनाव के दौरान अपनी तथा दूसरे दलों की स्थिति का आकलन कराने के लिए कोई भी सरकार तैयार कराती है। 25 दिसंबर को इस रिपोर्ट को दोबारा मांगा गया। मंगलवार को गृह मंत्री ने रिपोर्ट नहीं मिलने पर CID अधिकारियों से जवाब तलब कर लिया।

गृह मंत्री के कड़े रुख के बाद मंगलवार रात को ही दो लिफाफे गृह मंत्री के कार्यालय में भिजवा दिए गए। बुधवार को गृह मंत्री ने यह लिफाफे खोलकर देखे तो पता चला कि मांगी गई जानकारी इसमें नहीं है। हालांकि बाद में मीडिया से बातचीत करते हुए विज ने कहा कि उन्होंने CID से उन लोगों की रिपोर्ट मांगी थी, जिन्हें राज्य में सुरक्षा (गनमैन) दे रखे हैैं। विज के इस बयान को किसी तरह के विवाद से बचने वाला बताया जा रहा है।

गृह मंत्री ने CID चीफ को तीन दिन का समय देते हुए कहा कि उनके द्वारा मांगी गई जानकारी की पूरी रिपोर्ट समय से भिजवाएं। सूत्रों के अनुसार CID अधिकारियों ने मांगी गई रिपोर्ट भेजने का भरोसा दिलाया है। साथ ही इसके लिए गृह मंत्री से कुछ समय देने का अनुरोध किया है।

CID चीफ के साथ विज के पास पहुंचे डीजीपी

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज को नए साल की शुभकामनाएं देने के लिए डीजीपी मनोज यादव, एडीजीपी नवदीप विर्क और CID प्रमुख अनिल कुमार राव एक साथ पहुंचे। तीनों ने गृह मंत्री को शुभकामनाएं दी। सूत्रों के अनुसार डीजीपी सचिवालय में गृह मंत्री के कार्यालय में CID चीफ को लेकर उनसे कुछ बात करना चाहते थे, लेकिन इसका मौका नहीं मिल पाया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस