जागरण संवाददाता, पंचकूला : वृद्धावस्था सम्मान भत्ता योजना का लाभ लेने के लिए अब लाभार्थियों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे और वह घर बैठे ही इस योजना का लाभ उठा सकेंगे। वर्तमान में 25,298 लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। लाभार्थियों को अब योजना के तहत अप्लाई करने की आवश्यकता नहीं है। परिवार पहचान पत्र के अनुसार 60 वर्ष पूरा होते ही जिला समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय से कर्मचारी लाभार्थी के घर जाएंगे। लाभार्थी से आवश्यक दस्तावेज प्राप्त करने और कंसेंट फार्म लेने के पश्चात लाभार्थी के खाते में 2500 रुपये का वृद्धावस्था सम्मान भत्ता आना शुरू हो जाएगा। राज्य सरकार की इस नई पहल के तहत एक अप्रैल, 2022 से अब तक जिले में 64 वरिष्ठ नागरिक इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। जो पहले से कोई पेंशन ले रहे हैं या पति-पत्नी की वार्षिक आय एक लाख 80 हजार रुपये की अधिक है, उन्हें पेंशन नहीं मिलेगी।

बुढ़ापा पेंशन अन्य सामाजिक सुरक्षा योजनाएं जैसे विधवा पेंशन योजना, विकलांग पेंशन योजना हरियाणा में राज्य सरकार द्वारा पूरी तरह से लागू की हैं। योजना के तहत पेंशन 2500 रुपये दी जा रही है। पेंशन राशि प्राप्त करने के लिए सभी स्त्रोतों से आवेदक के परिवार की कुल वार्षिक आय 2 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। राज्य में ऐसे कई लोग हैं जिनके पास बुढ़ापे में आय का कोई स्त्रोत नहीं है। ऐसे लोगों के लिए, राज्य सरकार ने हरियाणा वृद्धावस्था पेंशन योजना 2022 शुरू की है। इस योजना के तहत, 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों को प्रति माह 2500 रुपये की राशि दी जाती है। हरियाणा वृद्धजन पेंशन योजना के तहत प्राप्त पेंशन राशि का उपयोग करके वृद्धजन बुढ़ापे में अच्छी तरह से जीवन यापन कर सकेंगे। इस योजना के तहत सरकार का लक्ष्य राज्य के बुजुर्गों को आत्मनिर्भर बनाना है।

खास बातें

-योजना के तहत आवेदक की आयु 60 वर्ष या फिर उससे ज्यादा होनी चाहिए।

-हरियाणा ओल्ड एज पेंशन के तहत लाभार्थी को 2500 रुपये का लाभ मिलता है।

-योजना का उद्देश्य राज्य के बूढ़े लोगों को सम्मान का जीवन प्रदान करना है।

-हरियाणा ओल्ड एज पेंशन में आसानी से आनलाइन आवेदन किया जा सकता है।

-योजना की आवेदन प्रक्रिया राज्य के सीएससी जन सेवा केंद्रों पर भी उपलब्ध है।

-योजना के माध्यम से हरियाणा के वृद्ध नागरिकों के जीवन स्तर में सुधार आएगा।

-हरियाणा का कोई भी नागरिक सरकार की इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

-आवेदक हरियाणा राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।

आवेदक निराश्रित होना चाहिए

-हरियाणा वृद्धावस्था पेंशन योजना 2022 के तहत राज्य के महिला और पुरुष दोनों ही आवेदन करने के पात्र हैं।

कोटस

वृद्धावस्था सम्मान भत्ता योजना का लाभ लेने के लिए अब लाभार्थियों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे और वह घर बैठे ही इस योजना का लाभ उठा सकेंगे। वर्तमान में 25,298 लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। लाभार्थियों को अब योजना के तहत अप्लाई करने की आवश्यकता नहीं है।

-महावीर कौशिक, डीसी, पंचकूला।

Edited By: Jagran