नई दिल्ली, [बिजेंद्र बंसल]। हरियाणा के उपमुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला के जबर्दस्‍त विरोध के कारण किसानों पर बोझ बढ़ने का खतरा टल गया और उर्वरकों पर जीएसटी की दर बढ़ाने का निर्णय रोक दिया गया। गुड्स एवं सर्विस टैक्स (जीएसटी) काउंसिल ने उवर्रकों पर टैक्‍स की दर बढ़ाने का फैसला कर लिया था, लेकिन दुष्‍यंत ने इसका जमकर विरोध किया। इसमें उनका साथ पंजाब और गुजरात ने दिया।

जीएसटी काउंसिल की बैठक में पंजाब और गुजरात ने भी दुष्यंत का किया समर्थन

इस विरोध के चलते उर्वरकों पर जीएसटी की दर बढ़ाने का निर्णय टाल दिया गया। शनिवार को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में जीएसटी काउंसिल की बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में हुई। इसमें उर्वरकों सहित कई वस्तुओं की जीएसटी दर बढ़ाए जाने का निर्णय किया गया था। बैठक में उपस्थित हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने उर्वरकों की जीएसटी की दर बढ़ाए जाने  का विरोध किया।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कृषि प्रधान राज्यों के लिए यह बहुत मुश्किल होगा कि उर्वरकों की जीएसटी दर 5 से 18 फीसद कर दी जाए। इसका सीधा असर किसानों के फसल लागत पर पड़ेगा। इसलिए उर्वरकों पर जीएसटी की दरों में वृद्धि करना न्‍यायसंगत नही है।

बता दें एक जुलाई 2017 को जीएसटी काउंसिल ने उर्वरकों पर जीएसटी की दर 12 फ़ीसद से घटाकर 5 फीसद कर दी थी। शनिवार हुई काउंसिल की बैठक में दुष्यंत चौटाला के विरोध पर पंजाब और गुजरात के वित्त मंत्री भी साथ खड़े नजऱ आए और इसका असर यह हुआ कि जीएसटी काउंसिल को उर्वरकों पर जीएसटी की दर बढ़ाएं जाने का निर्णय टालना पड़ा।

जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि काउंसिल ने उनके तर्कों को माना, इसके लिए वह पूरी काउंसिल का आभार व्यक्त करते हैं। दुष्यंत ने साफ़ किया कि जीएसटी की दर आम जनता के अनुरूप ही रहेंगी। किसान पहले से ही परेशान हैं और उर्वरकों पर जीएसटी बढ़ने से किसानों के लिए मुश्किल पैदा हो जाती। इससे खेती की लागत बढ़ जाती और किसानों पर मार पड़ती।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: हरियाणा से RS की तीन सीटों पर निर्विरोध चुनाव तय, एक कांग्रेस व दो BJP प्रत्‍याशियों के नामांकन

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस