पंचकूला [राजेश मलकानियां]। Corona Virus: हरियाणा के गांव बक्शीवाला के स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं इन दिनों कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने में सक्षम मास्क बनाने में जुटी हुई हैं। पहली खेप में 10 लाख मास्क तैयार किए जा रहे हैं, जो कोरोना वायरस से लड़ रहे चीन को सप्लाई किए जाएंगे।

दावा है कि इसेे पहनने से वायरस के संक्रमण से बचा जा सकता है। बक्शीवाला की महिलाओं ने बताया कि ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत उन्हें 10 लाख मास्क तैयार करने का ऑर्डर मिला है। हिमाचल के परवाणू स्थित एक कंपनी को चीन से मास्क के लिए ऑर्डर मिला था, जिसने उन्हें यह काम सौंपा है।

बक्शीवाला के स्वयं सहायता समूह (एसएसजी) की प्रधान स्वर्ण कौर ने बताया कि उक्त कंपनी के अधिकारी ने मुझसे संपर्क किया और उसके बाद 10 लाख मास्क तैयार करने की जिम्मेदारी दे दी गई। अब समूह की महिलाएं मास्क तैयार करने में जुटी हुई हैं। हरियाणा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से जुड़े इस समूह से जुड़ी महिलाएं अपने पैरों पर खड़ा होने की कोशिश कर रही हैं। अब उनकी कोशिश रंग ला रही है।

गांव बक्शीवाला की स्वयं सहायता समूह को मिले इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए स्वर्ण कौर ने गांव के सभी समूहों की महिलाओं को अपने साथ जोड़ा है। उनका कहना है कि शुरुआत में महिलाओं के सामने बड़ी मुश्किल सिलाई मशीनों की थी। इसके बाद फैसला किया गया कि जिन महिलाओं के पास मशीनें हैं, वह आपस में मिलकर काम कर लेंगी। दिन में कुछ महिलाएं और रात में कुछ महिलाएं मास्क तैयार करेंगी।

स्वर्ण कौर ने बताया कि वह रोजाना दो हजार मास्क तैयार रही हैं, लेकिन आने वाले दिनों में इस टारगेट को पांच हजार रोजाना तक ले जाया जाएगा। फिलहाल 40 महिलाएं मास्क बनाने के काम में जुटी हैं। उनकी कोशिश है कि समूह से और भी महिलाओं को जोड़ा जाए। एडीसी मनीता मलिक ने बताया कि महिलाओं का यह प्रयास न केवल इन्हें आर्थिक मजबूती देगा, बल्कि आजीविका के नए रास्ते भी खोल रहा है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस