जेएनएन, चंडीगढ़। सिंचाई और जल संसाधन विभाग हरियाणा में काम करने वाले मुख्य इंजीनियरों की वरिष्ठता सूची पर विवाद शुरू हो गया है। सिंचाई विभाग के चीफ इंजीनियर गुलाब सिंह नरवाल ने चीफ इंजीनियर बीरेंद्र सिंह को इंजीनियर इन चीफ के पद पर प्रमोशन देने को रद करने की मांग की हैं। नरवाल ने अपनी याचिका में कहा कि सरकार ने मुख्य इंजीनियरों की वरिष्ठता सूची में नियमों की पालना नहीं की। याची ने कोर्ट से कहा कि वो सरकार को आदेश दे कि सरकार उसको इंजीनियर इन चीफ के पद पर प्रमोशन दे।

याचिका पर सुनवाई के बाद हाई कोर्ट ने हरियाणा सरकार के साथ इंजीनियर इन चीफ सिंचाई और जल संसाधन विभाग बीरेंद्र सिंह, चीफ इंजीनियर कमांड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी राकेश चौहान और चीफ इंजीनियर को सतबीर सिंह कादियान को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। हाई कोर्ट ने सरकार से यह भी पूछा है कि क्यों न वो इस वरिष्ठता सूची पर रोक लगा दे जिसके तहत बीरेंद्र सिंह को इंजीनियर इन चीफ के पद पर प्रमोशन दिया गया है।

गुलाब सिंह वर्तमान में वह भाखड़ा ब्यास प्रबंधन बोर्ड (बीबीएमबी) चंडीगढ़ में सदस्य (सिंचाई) के रूप में डेपुटेशन पर हैं। याचिकाकर्ता ने विभाग की 16 जनवरी, 2020 की वरिष्ठता सूची को फिर से निर्धारित करने और पदोन्नत करने के की मांग की है। याची के अनुसार तीन प्रतिवादी के साथ उसे 1998 में सहायक कार्यकारी अभियंता के रूप में भर्ती किया गया था।

16 जनवरी, 2020 की वरिष्ठता सूची के अनुसार, याचिकाकर्ता को बीरेंद्र सिंह और राकेश चौहान से पीछे रखा गया। याचिकाकर्ता एकमात्र एससी उम्मीदवार था और उसको बीरेंद्र सिंह और राकेश चौहान से वरिष्ठ माना जाना चाहिए था, इसलिए उनको प्रमोशन देकर इंजीनियर इन चीफ बनाया जाए।

यह  भी पढ़ें: सरकार के प्रयासों को हाई कोर्ट का झटका, 70 फीसद फीस वसूल सकेंगे स्कूल, एडमिशन फीस भी लेंगे

यह  भी पढ़ें: विदेश में फंसे भारतीयों की वापसी शुरू, अमृतसर में 211 व चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर आए 100 यात्री

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस