मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी के हरियाणा में पार्टी संगठन में बड़ा बदलाव करने के मूड में नहीं है। शीर्ष नेतृत्व के इस रुख से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा समर्थकों की निराशा बढ़ रही है। हुड्डा समर्थक कांग्रेस विधायक पहले 29 जनवरी को और फिर 12 फरवरी को प्रदेश प्रभारी महासचिव गुलाम नबी आजाद से मिल चुके हैं। दोनों ही बार आजाद की तरफ से उन्हें बदलाव का आश्वासन नहीं मिला।

सूत्र बताते हैं कि गुलाम नबी आजाद ने यह कह दिया है कि फिलहाल संगठन को लोकसभा चुनाव की तैयारियों में लगाना चाहिए। इसके लिए आजाद ने विधायकों से अलग-अलग भी यह जानकारी ली है कि मौजूदा संगठन में ही पार्टी के सभी नेता एक मंच पर किस फार्मूले के तहत आ सकते हैं। अब हुड्डा समर्थक कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के दरबार में भी गुहार लगा सकते हैं।

-------------------

तंवर से मिले भाजपा के विधायक अवतार भड़ाना के पुत्र अर्जुन भड़ाना

उधर फरीदाबाद से तीन बार और एक बार मेरठ से कांग्रेस के सांसद रह चुके अवतार भड़ाना फिलहाल उत्तर प्रदेश के मीरापुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के विधायक हैं। वह 2019 के चुनाव में फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र भाजपा की टिकट मांग रहे हैं। 2014 में अवतार ने कांग्रेस की टिकट पर फरीदाबाद से चुनाव लड़ा था। इसके बाद वह पहले इनेलो और फिर भाजपा में शामिल हो गए थे।

पिछले कुछ दिनों से उनके कांग्रेस नेताओं से मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं। अब उनके पुत्र अर्जुन भड़ाना नई दिल्ली में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ.अशोक तंवर से मिलने कारण तो राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ गई हैं। सूत्र बता रहे हैं कि अवतार के बड़े भाई करतार भड़ाना के पुत्र मनमोहन भड़ाना चूंकि कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला की 2 मार्च को रैली करना चाहते हैं इसलिए अवतार ने अपने पुत्र को भी राजनीति के मैदान में उतार दिया है।

------

चुनाव से पहले महिला पदाधिकारियों को ट्रेनिंग देगी कांग्रेस

चंडीगढ़। दूसरी ओर, लोकसभा चुनाव से पहले महिला कांग्रेस प्रदेश पदाधिकारियों और जिलाध्यक्षों को प्रशिक्षण देगी। पंचकूला में 20 फरवरी से शुरू हो रहे दो दिन के ट्रेनिंग कैंप में राष्ट्रीय टीम प्रदेश इकाई को सिखाएगी कि चुनाव की तैयारी कैसे करनी है और पार्टी का एजेंडा क्या होगा।

हरियाणा कांग्रेस मुख्यालय में महिला मोर्चा की प्रदेश प्रधान सुमित्रा चौहान ने बताया कि प्रशिक्षण कार्यक्रम के पहले दिन प्रदेश पदाधिकारियों, जिलाध्यक्षों और सभी विधानसभा क्षेत्रों की समन्वयकों को बुलाया गया है। अगले दिन ब्लॉक अध्यक्षों को ट्रेनिंग दी जाएगी। प्रशिक्षण के बाद 5 मार्च से क्रांति महिला अधिकार यात्रा का दूसरा चरण शुरू होगा। इसके तहत सभी दस लोकसभा क्षेत्रों को कवर किया जाएगा।

कार्यक्रम के लिए महिला मोर्चा की वरिष्ठ उपाध्यक्ष उपेंद्र कौर अहलुवालिया, राष्ट्रीय समन्वयक रंजीता मेहता, नीना राठी, सुधा भारद्वाज, सीमा, मीनाक्षी शर्मा, किरण और सुषमा खन्ना की ड्यूटी लगाते हुए सुमित्रा चौहान ने कहा कि अधिकार यात्रा के दौरान समय का विशेष ध्यान रखा जाएगा। अंबाला लोकसभा से शुरू होने वाले यात्रा क्रार्यक्रम का शेड्यूल इस तरह रखा जाएगा कि सभी लोकसभा क्षेत्रों में यात्रा जत्था निर्धारित समय पर पहुंचे।

सुमित्रा चौहान ने कहा कि मोर्चा लोकसभा और विधानसभा चुनावों में महिलाओं के लिए 50 फीसद सीटें मांगेगा। हालांकि जीतने में सक्षम उम्मीदवार को टिकट दिया जाएगा। चुनाव लडऩे की इच्छुक महिला पदाधिकारियों से जल्द आवेदन मांगे जाएंगे।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप