राजेश मलकानियां, पंचकूला : स्मार्ट सिटी चंडीगढ़ अब पंचकूला से साइकिल चलाना सीखने जा रहा है। चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारियों ने नगर निगम पंचकूला से 80 साइकिल उधार मांगी हैं, ताकि वह चंडीगढ़ के लोगों को साइकिल का महत्व बता सकें। साथ ही यदि लोगों का रिस्पांस अच्छा मिला तो चंडीगढ़ में भी पब्लिक बाइक शेयरिग प्रोजेक्ट को लांच कर दिया जाएगा। चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के डायरेक्टर की ओर से पंचकूला नगर निगम के कमिश्नर को लिखे गए पत्र में स्पष्ट तौर से कहा गया है कि चंडीगढ़ में साइकिल प्रोजेक्ट को लांच करने से पहले वह लोगों का रिस्पांस देखना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने 23 सितंबर को सेक्टर-17 चंडीगढ़ में एक इवेंट का आयोजन किया है। जिसमें 80 साइकिल उपलब्ध करवाने की मांग की है। सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे साइकिल के प्रति लोगों का रिस्पांस देखा जाएगा। नगर निगम पंचकूला के प्रशासक एवं आयुक्त राजेश जोगपाल ने बताया कि चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट डायरेक्टर से उन्हें पत्र प्राप्त हुआ है। साइकिलें किन रेट्स पर एक दिन के लिए दी जानी है, इस पर चर्चा की जा रही है। जिसके बाद चंडीगढ़ के आवेदन को स्वीकार कर लिया जाएगा। याना ने लांच किया स्मार्ट कार्ड

वहीं पंचकूला के उन लोगों के लिए खुशखबरी है, जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं है। अब याना कंपनी की ओर से एक स्मार्ट कार्ड लांच कर दिया गया है। जिससे कार्ड स्वैप करने के बाद साइकिल का लॉक खुल जाएगा और साइकिल की सवारी कर पाएंगे। ट्यूशन जाने वाले छात्रों में इस साइकिल की सवारी के लिए काफी क्रेज देखने के लिए मिल रहा है। परंतु माता-पिता द्वारा काफी छात्रों को पढ़ाई के चलते स्मार्ट फोन लेकर नहीं दिए गए हैं। स्मार्ट फोन न होने के चलते यह छात्र साइकिल की सवारी नहीं कर पा रहे थे। इसके अलावा गरीब तबके के लोग भी साइकिल की सवारी करना चाहते हैं, लेकिन स्मार्ट फोन इस सवारी में बाधा बन रहा था। इसलिए कंपनी द्वारा स्मार्ट कार्ड लांच कर दिया है। प्रशासक राजेश जोगपाल ने यह कार्ड वीरवार को लांच किया। 28 हजार लोग जुड़ चुके याना एप से

याना कंपनी के प्रबंधन सौरभ जैन ने बताया कि कुल 28099 लोग याना एप को अपने मोबाइल फोन में अपलोड कर चुके हैं। कंपनी द्वारा लगातार लोगों से फीडबैक ली जा रही थी। याना के स्मार्ट कार्ड के कुछ फीचर्स साइकिल के साथ जोड़े जा रहे हैं। जिसके बाद कार्ड स्वैप करने पर साइकिल का लॉक खुल जाएगा। इस कार्ड की कीमत 100 रुपये रखी गई है। इसके बाद कार्ड में 100 रुपये, 500 रुपये और 1000 रुपये तक डलवा सकते हैं। रात को सड़कों पर दौड़ रही साइकिल

रात के समय साइकिल चलाने वालों का उत्साह देखते ही बन रहा है। महिलाएं एवं बच्चे रात 8 से 10 बजे के बीच खूब साइकिल चला रहे हैं। सैर के लिए भी साइकिल को इस्तेमाल किया जा रहा है। रोजाना लगभग 1400 लोग अब साइकिल की सवारी कर रहे हैं। कुल मोबाइल एप डाउनलोड-28099

पुरुष-21777

महिला-6322

कुल राइड्स-41116

पुरुष राइड्स-31154

महिला राइड्स-9962

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप