जागरण संवाददाता, पंचकूला :

हरियाणा पब्लिक हेल्थ विभाग से जुड़े टर्म अप्वाइंटी संघर्ष समिति के सदस्यों का आक्रोश सरकार के खिलाफ बढ़ता जा रहा है। अपनी मांगों को लेकर संघर्षरत टर्म अप्वाइंटी ने वीरवार को सिर मुंडवाकर अर्धनग्न प्रदर्शन किया। इस दौरान पंचकूला पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया।

वीरवार को प्रदर्शनकारी कर्मचारी मांगों को लेकर धरना स्थल से चंडीगढ़ स्थित मुख्यमंत्री निवास की ओर चले। जैसे ही यह कर्मचारी सेक्टर 7-18 चौक के पास पहुंचे, पंचकूला पुलिस ने इन्हें रोक लिया और हिरासत में लेकर सेक्टर- 14 पुलिस थाने ले गये। जहां पहुंचकर इन्हें छोड़ दिया गया। यह टर्म अप्वाइंटी फिल्ड में कार्यरत कर्मचारियों की लंबित पड़ी मांगों को लागू करवाने के लिए पिछले तीन दिन से पंचकूला स्थित प्रमुख अभियंता जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के कार्यालय के रोजाना प्रदर्शन कर रहे हैं। इसका राज्य अध्यक्ष प्रदीप पावडि़या की अध्यक्षता में यह अनिश्चित कालीन धरना चल रहा है। धरने पर हरियाणा गर्वनमेंट पीडब्ल्यूडी मैकेनिकल वर्कर्स यूनियन के राज्य प्रधान शिव कुमार पराशर ने समर्थन किया और कहा कि यदि प्रमुख अभियंता द्वारा बातचीत में कर्मचारियों की मांगों की अनदेखी की गई, तो यूनियन आंदोलन में कूद पड़ेगी। प्रदीप पावड़िया ने बताया कि टर्म अप्वाइंटी पिछले 12-13 वर्ष से लगातार ट्यूवेल चला रहे हैं। पॉलिसी बनाकर सरकार उन्हें पक्का करें। तब तक उन्हें समान काम सामान वेतन लागू किया जाए।

आंदोलनकारियों में मुख्य रूप से शिव कुमार पराशर, सुरेंद्र डांगी, सोमपाल संधू, सुनील मेवातण, महावीर पांचाल, रविन्द्र सागवान सुरेंद्र रोहिला, महाबीर पांचाल, जसबीर सिंह, नरेंद्र धीमान, भगवत दयाल शर्मा, संदल सिंह राणा, ईश्वर सिंह भारद्वाज, रामपाल सैनी शामिल थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप