Move to Jagran APP

दो महिलाओं ने इलाज के बहाने डॉक्टर को घर पर बुलाया, दरवाजा बंद करके शुरू किया खेल...

पलवल के हथीन में क्लीनिक चलाने वाले एक डॉक्टर को दो महिलाओं ने इलाज के बहाने अपने घर बुलाया। इसके बाद दरवाजा महिलाओं ने दरवाजा बंद कर लिया। महिलाओं की इस साजिश में उसके माता-पिता तथा अन्य भी शामिल हैं। आरोपितों ने उसे बंधक बनाकर रखा। वह मुश्किल से मौका देखकर अपनी जान बचाकर आया और पुलिस को सूचना दी।

By Jagran NewsEdited By: Shyamji Tiwari Thu, 21 Mar 2024 03:39 PM (IST)
दो महिलाओं ने इलाज के बहाने डॉक्टर को घर पर बुलाया

जागरण संवाददाता, पलवल। हथीन में क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टर को हनीट्रैप में फंसाने के लिए इलाज के बहाने दो महिलाओं ने घर पर बुला लिया। महिलाओं ने अपने स्वजन के साथ मिलकर डॉक्टर से बाइक, नकदी लूट ली और उसका अपहरण कर बंधक बनाकर रखा। डॉक्टर किसी तरह से अरोपितों के चंगुल से छूटा और पुलिस को मामले की सुचना दी।

रेहाना नाम की महिला से कराया परिचय

हथीन थाना पुलिस ने लूट, अपहरण समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। थाना प्रभारी छत्रपाल के अनुसार, मामले में होडल के रहने वाले अशोक कुमार ने शिकायत दी है कि वह हथीन में क्लीनिक चलाता है। उसके क्लीनिक पर गांव कोट के रहने वाले जान मोहम्मद का आना जाना था। कुछ समय पहले जान मोहम्मद ने उसका परिचय रेहाना नाम की महिला से कराया था, जिसकी तबियत खराब थी।

उसने  रेहाना को दवाई दी थी। कुछ दिन बाद रेहाना अपने साथ बिलकिस नाम की महिला को इलाज के लाई थी। बिलकिस को भी उसने दवाई दी थी।  बीती 19 मार्च को रेहाना और बिलकिस उसके पास आई। बिलकिस ने कहा कि उसे दवाइयों से ज्यादा आराम नहीं हुआ है। बिलकिस ने उसे उपचार के लिए शाम को घर बुलाया। वह रात के करीब आठ बजे  बिलकिस के घर पहुँच गया।

डॉक्टर के आते ही बंद कर लिया दरवाजा

घर पर बिलकिस और रेहाना मौजूद थी। इसके बाद रेहाना ने घर का दरवाजा बंद कर दिया। बिलकिस ने कहा कि उन्होंने धोखा देकर फंसाने की नीयत से उसे घर पर बुलाया है। इस साजिश में उसके माता-पिता तथा अन्य भी शामिल हैं। इतना कहते ही बिलकिस ने शोर मचाना शुरू कर दिया। बिलकिस के स्वजन और अन्य लोग मौके पर आए गए।

आरोपितों ने उससे 2800 रुपये की नकदी, बाइक और अन्य कागजात लूट लिए। इसके बाद आरोपितों ने उसका अपहरण कर लिया और जमकर मारपीट की। आरोपितों ने उसे बंधक बनाकर रखा। वह मुश्किल से मौका देखकर अपनी जान बचाकर आया और पुलिस को सूचना दी।