Move to Jagran APP

Chaitra Navratri 2024: केला ही नहीं, अंगूर के भी आए अच्छे दिन; नवरात्रि में महंगे हुए फलों के दाम

चैत्र नवरात्र शुरू होते ही जिले में फलों के दाम में इजाफा देखा जा रहा है। मेन बाजार जवाहर नगर गुप्ता गंज बाजार सब्जी मंडी में नवरात्र पूजन सामग्री से दुकानें सज गईं। मंदिरों के बाहर तथा बाजारों में दुकानों के बाहर पूजा सामग्री बिकने लगी है। सोमवार को नवरात्र की पूर्व संध्या पर लोगों ने बाजारों में जमकर खरीदारी की।

By Ankur Agnihotri Edited By: Abhishek Tiwari Tue, 09 Apr 2024 01:31 PM (IST)
केला ही नहीं, अंगूर के भी आए अच्छे दिन; नवरात्रि में महंगे हुए फलों के दाम

जागरण संवाददाता, पलवल। मंगलवार से मां आदिशक्ति की आराधना का पर्व चैत्र नवरात्र शुरू हो गया है और भक्त फलाहार कर पूजा अर्चना करेंगे। इसी बीच फलों के दाम में भी उछाल आ गया है। सेब, संतरा, अंगूर, केले जैसे फलों की कीमतें पिछले साल की तुलना में दोगुना तक बढ़ गई है। नवरात्रि आते ही हर साल फलों की मांग बढ़ जाती है।

बता दें कि नवरात्रि में लोग अन्न का प्रयोग नहीं करते, अधिकतर व्रत रखने वाले लोग फलों का ही सेवन करते हैं। इस वजह से भी फलों के रेट बढ़ जाते हैं। मंदिरों में भोग प्रसाद चढ़ाने के लिए भी फलों की डिमांड ही अधिक रहती है। इसी कारण से इन दिनों फलों के दाम बढ़े हुए हैं।

70 रुपये दर्जन बिक रहे केले

कुछ दिन पहले 30-40 रुपये दर्जन बिकने वाले केले अब 70 रुपये दर्जन बिक रहे हैं। 80-100 रुपये किलो बिकने वाला सेब अब 150 से 180 रुपये तक बिक रहा है। इसके अलावा 30 रुपये किलो बिकने वाला संतरा 50 रुपये किलो बिक रहा है।

अब 100 रुपये किलो बिक रहे अंगूर

100 रुपये में ढाई किलो मिलने वाला अंगूर अब 100 रुपये किलो, 80 रुपये वाला अनार 160 रुपये, 30 रुपये किलो बिकने वाला पपीता 60 रुपये और 30 रुपये बिकने वाला अमरूद अब 50 रुपये किलो में बिक रहा है।

फल महंगे होने से लोगों पर भी आर्थिक बोझ बढ़ रहा है। इसी को देखते हुए नवरात्रि में व्रत रखने वाले लोगों ने फलों और जरूरी सामानों की खरीदारी अभी से ही शुरू कर दी है।

फल की खरीदारी कर रही लक्ष्मी, सीमा, शीला, रामवती ने कहा कि नवरात्रि की शुरुआत से पहले ही फलों के दामों में इजाफा हो गया है, तो नवरात्रि शुरू होने के बाद क्या होगा कुछ कहा नहीं सकते। इससे आम आदमी की जेब पर बहुत फर्क पड़ेगा। क्योंकि लोग नवरात्रों में व्रत रखते हैं और व्रत के दौरान सिर्फ फलों और अन्य चीजों को सेवन करते हैं।

फल व्यापारी इशान ने बताया व्रत के दौरान फलों की बिक्री और डिमांड बढ़ जाती है। वहीं फलों में भी केले की बिक्री सबसे ज्यादा होती है, क्योंकि यह सबसे सस्ता होता है और इसमें भरपूर पोषण होता है। नवरात्रि में उपवास रखने वाले श्रद्धालु केला खाकर भी अपना दिन गुजार लेते हैं।

इन मंदिरों में हैं खास तैयारियां

शहर के पंचवटी मंदिर, कामेश्वर मंदिर, खोंटा मंदिर, भूरागिरी मंदिर आदि में पूजा का विशेष इंतजाम किया गया है। खासकर कमेटी चौक स्थिति देवी के मंदिर में विशेष इंतजाम किए गए हैं। इन मंदिरों में जहां दुर्गा मां के लिए नए वस्त्र मंगवाए गए हैं, वहीं, फल-फूल आदि भी मंगवाकर माता का शृंगार करवाया गया है।

खरीदारी करते नजर आए लोग

मेन बाजार, जवाहर नगर, गुप्ता गंज बाजार, सब्जी मंडी में नवरात्र पूजन सामग्री से दुकानें सज गईं। मंदिरों के बाहर तथा बाजारों में दुकानों के बाहर पूजा सामग्री बिकने लगी है। सोमवार को नवरात्र की पूर्व संध्या पर लोगों ने बाजारों में जमकर खरीदारी की।

लोगों ने पूजन सामग्री जिसमें पीतल की बनी ज्याेत, लाल चुनरी, नारियल,लाल सिंदूर, देशी घी, धूप, अगरबत्ती की खरीदारी की। इसके अलावा कूटू, सिंगाड़े का आटा व व्रत सामग्री भी महिलाओं ने खरीदारी की।

आलू भी हुआ महंगा

सब्जी व्यापारी प्रदीप ने बताया कि दो दिन पहले तक आलू 70 रुपये (प्रति पांच किलोग्राम) था। नवरात्र में आलू की खपत भी बढ़ जाती है तो अब 150 रुपये (प्रति पांच किलोग्राम) हो गया है।