संवाद सहयोगी, हथीन : अधिकांश सरकारी सेवाओं में आधार कार्ड को जरूरी तो कर दिया गया, लेकिन आधार कार्ड से वंचित लोग इसे बनवाने के लिए दर बदर भटकने को मजबूर हैं। जिला उपायुक्त के आदेश से खंड कार्यालय में बनाए गए आधार कार्ड सेंटर पर ताला लटका है। रोजाना दूर दराज से आने वाले ग्रामीण आधार कार्ड बनवाने व कार्ड में त्रुटियों को ठीक कराने के लिए भटक रहे हैं। लेकिन यहां पर कोई व्यवस्था नहीं होने से घंटों इंतजार के बाद लोगों को घर वापस लौटना पड़ रहा है।

कई माह पहले जिला उपायुक्त के आदेश के बाद खंड कार्यालय में सीएचसी सेंटर की स्थापना करके यहां पर केंद्र स्थापित किया था। इस केंद्र पर कई दिनों से ताला लटका हुआ है। ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले लोग घंटों बैठ-बैठकर इंतजार करके चले जाते हैं। लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं। बताया गया है कि आधार कार्ड चलाने वाले सेंटर की प्रक्रिया नेट से बंद कर दी गई है। यह कब शुरू होगी कोई पता नहीं।

----------

मैं कई दिनों से बच्चों के आधार कार्ड ठीक कराने के लिए आ रहा हूं, लेकिन यहां पर ताला लटका हुआ है। जिस कारण रोजाना बैरंग लौटना पड़ रहा है।

-फकरू, निवासी धीरंकी।

--------------

भइया कई दिनों से आधार ठीक कराने आ रही हूं। लेकिन यहां पर कोई नहीं मिलता। रोजाना आने जाने से परेशानी हो रही है।

-बुद्धो, निवासी बिघावली।

----------

हां, कई दिनों से आधार केंद्र बंद है। हमने तो अधिकारियों के आदेश पर जगह मुहैया कराई थी। इसके बारे में ज्यादा जानकारी आलाधिकारी ही दें पाएंगे।

-दिगंबर, समाज शिक्षा एवं पंचायत अधिकारी खंड हथीन।

Posted By: Jagran