संवाद सहयोगी, तावडू (नूंह): नानूका में अचानक लगी आग से हड़कंप मच गया। देखते ही देखते आग ने भयावह रूप ले लिया और गांव के छह घर चपेट में आ गये। ग्रामीणों में जहां भगदड़ मच गई वहीं आग ने पेड़ों को भी चपेट में ले लिया। मौके पर आठ दमकल की गाड़ियां पहुंची। कड़ी मशक्कत के बाद ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाया जा सका। शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका है, लेकिन आग लगने का कारण पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है।

मंगलवार की दोपहर गांव नानूका में अचानक आग लगने से दो दर्जन से अधिक ग्रामीणों का लगभग 8 लाख रूपये का सामान जलकर खाक हो गया। सूचना पर तुरंत मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने लगभग तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। वहीं तहसीलदार राकेश कुमार, बीडीपीओ नरेंद्र सिंह व ब्लॉक समिति चेयरमैन नरेश यादव सहित पुलिस टीम ने हालाज का जायजा लिया। गांव नानूका के सरपंच जाकिर हुसैन ने बताया कि गांव में अचानक इतनी भीषण आग लगी कि 6 घरों को काफी नुकसान पहुंचा है। आग से इन घरों में रखा सामान, अनाज, बिटोड़े, तूड़ा, चारा जलकर खाक हो गया। वहीं एक दर्जन पेड़ों को भी इस आग से क्षति पहुंची है। उन्होंने कहा कि आग लगने से लगभग 8 लाख रूपये का नुकसान हुआ है। वहीं तावडू फायर स्टेशन इंचार्ज भागीरथ ने बताया कि आग बहुत ही भीषण थी। तावडू, सोहना आदि से दमकल की आठ गाड़ियों ने आग पर लगभग तीन घंटे में आग पर काबू पाया। उन्होंने कहा कि हवा के तेज रूख के चलते आग फैलती ही चली गई। गनीमत रही कि आग से कोई व्यक्ति या पशु हताहत नहीं हुआ। दमकलकर्मियों की मानें तो अगर समय पर विभाग को सूचना नहीं मिलती तो आग विकराल रूप धारण कर सकती थी।

------------------

आग से नुकसान की पटवारी द्वारा रिपोर्ट बनाई जा रही है। हां, आग से 4-5 घरों को नुकसान पहुंचा है। जल्द ही रिपोर्ट एसडीएम को प्रेषित कर दी जाएगी।

-राकेश कुमार, तहसीलदार, तावडू।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप