संवाद सहयोगी, तावडू: शुक्रवार की दोपहर करीब तीन बजे नगर के सोहना रोड स्थित हुड्डा सेक्टर से 10 वर्षीय बच्चा इमरान उर्फ दानिश को नकाबपोश बदमाश अवैध हथियार के बल पर अपहरण कर फरार हो गए, जिस पर तुरंत संज्ञान लेते हुए अपराध जांच शाखा प्रभारी तावडू एवं जिला नारकोटिक्स सेल इंचार्ज सुरेंद्र सिद्धू के नेतृत्व में गठित टीम ने 13 घंटे में बच्चे को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से सकुशल बरामद कर लिया।

शनिवार सायं पुलिस कप्तान वरुण सिगला ने बताया कि 27 मई को विजय नगर तावडू निवासी 10 वर्षीय लड़का इमरान उर्फ दानिश को तीन बजे के आसपास अपहरण कर 25 लाख रुपये की फिरौती मांगी गई। वारदात की सूचना मिलते ही तुरंत पुलिस हरकत में आ गई और अलग-अलग टीम का गठन कर 13 घंटे में ही बच्चे को सकुशल छुड़ाने के साथ ही तीन आरोपितों को भी अवैध हथियारों सहित गिरफ्तार कर लिया। इसके साथ ही वारदात में इस्तेमाल की गई वैगनआर गाड़ी को भी बरामद कर लिया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इमरान उर्फ दानिश पुत्र हाशिम शुक्रवार की सांय अपने साथियों के साथ साइकिल चला रहा था। तभी वैगनआर में सवार होकर आए नकाबपोश बदमाशों ने बच्चे का अपहरण कर उनके पिता हासिम से फोन पर 25 लाख की फिरौती मांगी। फिरौती न देने पर अपहरणकर्ताओं ने बच्चे को जान से मारने की धमकी दी, जिसको लेकर तुरंत शहर थाना तावडू में मामला दर्ज कर अलग-अलग टीमें कार्रवाई में जुट गई।

बच्चे की सकुशल बरामदगी के बाद स्वजन ने राहत की सांस ली। गिरफ्तार किए गए आरोपितों की पहचान अजय पुत्र नरेश निवासी मंडारका, मोहसिन पुत्र अली मोहम्मद निवासी विजय नगर तावडू व हरीश पुत्र जय भगवान निवासी गुरनावट थाना तावडू के रूप में हुई। अपहरणकर्ताओं से पूछताछ के दौरान बीते 15 फरवरी को भारत फाइनेंस के एक कर्मचारी सिकंदर की लूट के दौरान तावडू क्षेत्र में चाकू मारकर हत्या करने की वारदात का भी पर्दाफाश हुआ है। वहीं एंटी नारकोटिक्स सेल के इंचार्ज इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिद्धू ने दावा किया है कि रिमांड लेकर आरोपितों से और भी मामले का पर्दाफाश होने की संभावना है।

Edited By: Jagran